जगमग योजना में दी जा रही महज 10 घंटे बिजली, ग्रामीणों में रोष

संवादसहयोगी,नांगल चौधरी: दक्षिणीहरियाणाबिजलीवितरणनिगमकीजगमगयोजनाभीग्रामीणोंकोरासनहींआरहीहै।अपनेउद्देश्यपरखरानहींउतरनेपरग्रामीणयोजनाकोमहजढकोसला हीकरारदेरहेहैं।जगमगयोजनामेंशामिलहोनेकेबादभीतोताहेड़ी केग्रामीणोंकाबिजलीइंतजारबढ़ताजारहाहै।योजनाकेतहतपंद्रहघंटेसप्लाईकाशेडयूलहै,लेकिनग्रामीणोंकोदसघंटेभीआपूर्तिनहींमिलपारहीहै।सप्लाईमेंदिन-रातलगनेवालेलंबेकटोंसेपरेशानग्रामीणशिकायतोंकेबादअबनिगमकेप्रतिआक्रोशितहोनेलगेहैं।

ग्रमाीणों नेबतायाकिउनकागांवकाफीसमयसेजगमगयोजनामेंशामिलहै।योजनाकेतहतग्रामीणोंकोदिनमें12 बजेसेसायं4बजेतकयानि चारघंटेदिनमेंसप्लाईमिलनीहै।वहीशाम6 बजेसेसुबहपांचबजेतक11 घंटेरातकोसप्लाईकाशेडयूलहै।इसतरहजगमगयोजनाकेतहतदिन-रातमेंपंद्रहघंटेबिजलीआपूर्तिमिलनीचाहिए,लेकिनयहांनिगमदिनमेंलंबेकटलगाकरबमुश्किलदोघंटेवरातकोआठघंटेहीसप्लाईमुहैयाकरवारहाहै।इसतरहग्रामीणोंकोपंद्रहघंटेकीबजायमहजदसघंटेहीबिजलीआपूर्तिमिलपारहीहै।शेषपांचघंटेकीसप्लाईनिगमकेकटोंमेंचलीजातीहै।उन्होंनेबतायाकिलंबेकटवबिजलीकटौतीसेग्रामीणोंकागर्मीमेंघरोंमेंरहनामुश्किलबनाहुआहै।वेयोजनाकेतहतसप्लाईकेलिएनिगमअधिकारीसेलेकरविधायकतककोअवगतकरवाचुकेहैं,लेकिनव्यवस्थामेंकोईसुधारनहींहोपारहाहै।ग्रामीणोंनेबतायाकियदिसप्लाईमेंसुधारनहींहुआतोवेपावरहाउसपहुंचकरनिगमकेप्रतिआंदोलनकरनेकोमजबूरहोजाएंगे।

''जगमगयोजनामेंशामिलगांवोंकोशेड्यूलकेमुताबिकपूरीपंद्रहघंटेसप्लाईदीजातीहै।कोईतकनीकीफाल्टहोनेसेहीबिजलीआपूर्तिमेंकटलगताहै।गतपंद्रहदिनपहलेक्षेत्रमेंआएतूफानसेनिगमकेपोलवतारोंकोक्षतिपहुंचनेसेहीकटकीसमस्याबनीहै।वहएक-दोदिनमेंपूरीकरलीजाएगी।

-अशोककुमार,जगमगपावरहाउसइंचार्ज,भुंगारका।