ICMR चीफ बलराम भार्गव ने 'कोवैक्सिन' को बताया सार्वजनिक-निजी भागीदारी का सटीक उदाहरण

नईदिल्ली,आइएएनएस।भारतीयचिकित्साअनुसंधानपरिषद(ICMR)केमहानिदेशकडा.बलरामभार्गवनेमंगलवारकोकहाकिभारतकेकोरोनारोधीस्वदेशीटीकेकोवैक्सीनकाविकासविश्वासऔरपारदर्शिताकेसाथचिन्हितसार्वजनिक-निजीभागीदारीकाएकसटीकउदाहरणहै। डा.भार्गवअपनीपुस्तक'गोइंगवायरल(GoingViral)'केलोकार्पणकेमौकेपरबोलरहेथे।उन्होंनेकहाकिभारतबायोटेकऔरआइसीएमआरकेबीचसहयोगसेहीकोवैक्सीनकाविकाससंभवहोपाया।

'गोइंग वायरल'मेंडाभार्गवनेभारतमेंकोरोनासंक्रमणकेपहलेमामलेसेलेकरवैक्सीनकेविकासकीगाथालिखीहै।उन्होंनेवैक्सीनकेविकाससेलेकरइसकेट्रायलतककेसफरमेंआईमुश्किलोंकेबारेमेंतोलिखाहीहैसाथहीसरकारववैज्ञाानिकोंद्वारामिलकरसफलताहासिलकरनेकाभीउल्लेखकियाहै। अपनीपुस्तकमेंउन्होंनेआठमहीनेकेरिकार्डसमयमेंस्वदेशीकोरोनारोधीटीकाविकसितकरनेसेजुड़ेअपनेअनुभवोंकोसाझाकियाहै।उन्होंनेकहाकिभविष्यमेंइसतरहकीमहामारीरोकनेकेलिएहमारेपर्यावरणकीरक्षाकरनामहत्वपूर्णहोगा।

पुस्तककेविमोचनकेमौकेपरअखिलभारतीयआयुर्विज्ञानसंस्थान(AIIMS)दिल्लीकेनिदेशकडा.रणदीपगुलेरियानेकहाकिदेशमेंकोविडकीपहलीदोलहरोंकीतुलनामेंउतनीहीतीव्रतावालीतीसरीलहरआनेकीआशंकानहींहै।उन्होंनेकहाकिइससमयसंक्रमणकेमामलोंमेंइजाफानहींहोनादर्शाताहैकिटीकेअबभीवायरससेसुरक्षाप्रदानकररहेहैंऔरफिलहालतीसरीबूस्टरखुराककीकोईजरूरतनहींहै।डा.गुलेरियानेकहाकिजिसतरहसेवैक्सीनसंक्रमणकीगंभीरताकोरोकनेऔरअस्पतालोंमेंभर्तीहोनेकीस्थितिसेबचानेकेमामलेमेंकारगरसाबितहोरहेहैं,अस्पतालोंमेंबड़ीसंख्यामेंलोगोंकेभर्तीहोनेसमेतकिसीबड़ीलहरकीसंभावनाहरदिनक्षीणहोरहीहै।