हैलट अस्पताल के बाल रोग विभाग में लगे सारे वेंटिलेटर खराब हैं; कोरोना की तीसरी लहर में बच्चे संक्रमित हुए तो हालात डरावने होंगे

कानपुरकेहैलटअस्पतालकेबालरोगविभागकीडॉ.नेहाअग्रवालकीएकऔरचिट्‌ठीसामनेआईहै।इससेअस्पतालमेंव्यवस्थाओंकीपोलखोलदीहै।विभागकेHODकोलिखीचिट्‌ठीमेंउन्होंनेबतायाहैकियहां5वेंटिलेटरहैंऔरइसमेंकेवलएकहीकामकरहै।उसकाभीनॉबखराबहै।मतलबसहीतरीकेसेकोईभीवेंटिलेटरकामनहींकररहाहै।

उनकालेटरऐसेसमयमेंसामनेआयाहै,जबकोरोनाकीतीसरीलहरकाखतरानजदीकहै।केंद्रसेलेकरराज्यसरकारतकलगातारलोगोंकोआगाहकररहीहैंकितीसरीलहरमेंबच्चोंकोसबसेज्यादाखतराहोसकताहै।ऐसेसमयमेंडॉ.नेहाकीयेचिट्‌ठीप्रशासनकेउनदावोंकीपोलभीखोलरहीहैजिसमेंकहागयाहैकिकोरोनाकीतीसरीलहरसेलड़नेकेलिएअस्पतालपूरीतरहसेतैयारहैं।

5जुलाईकोडॉ.नेहानेएचओडीकोलिखाथालेटर

डॉ.नेहाअग्रवालनेयेचिट्‌ठी5जुलाईकोहीमेडिकलकॉलेजकेबालरोगविभागकेHODकोलिखाथा।इसमेंउन्होंनेबतायाथाकिदोसप्ताहपहलेपीडियाट्रिकइंटेंसिवकेयरयूनिट(पीआइसीयू)मेंदोएग्वावेंटिलेटरइंस्टालकिएगएथे।जिसमेंदोनोंहीवेंटिलेटरकामनहींकररहेहैं।उन्होंनेयेभीबतायाथाकिएकवेंटिलेटरचार्जनहींहोरहाहैऔरएकचलते-चलतेरूकगया।

यहदोनोंहीवेंटिलेटरPMकेयरफंडसेदिएगएहैं।डॉ.नेहानेबालरोगविभागकेविभागाध्यक्षकोवेंटिलेटरकेखराबहोनेकेबारेमेंबतायाथा।साथहीउन्होंनेयेभीबतायाथाकिपीडियाट्रिकइंटेंसिवकेयरयूनिट(PICU)में5वेंटिलेटरमेंएकहीकामकररहाहैऔरउसकीभीसेटिंगगड़बड़है।कामकररहेवेंटिलेटरकीनॉबखराबहै,जिससेउसकेफंक्शनप्रॉपरनहींहोपारहेहैं।

बच्चेकीमौतकाखुलासाकरनेपरसस्पेंडहोनापड़ाथा

डॉ.नेहाअग्रवालहैलटकेबालरोगविभागमेंPICUकीइंचार्जहै।पीएमकेयरफंडसेमिलेवेंटिलेटरसेहुईबच्चीकीमौतकामामलाउन्होंनेउजागरकियाथा।इसकेबादउनकोनिलंबितकरदियागयाथा।हालांकि,बादमेंप्राचार्यसंजयकालानेडॉ.नेहाकेबचावमेंशासनकोपत्रभेजकरपुनर्विचारकाअनुरोधकियाथाऔरएकजांचकमेटीगठितकीथी।यहकमेटीडॉ.नेहाकोक्लीनचिटदेचुकीहै।मेडिकलसाइंसमेंविशेषशोधकार्योंकेलिएउन्हेंअबतक29मेडलमिलचुकेहैं।डॉ.नेहाअग्रवालराष्ट्रपतिप्रणबमुखर्जीकेद्वारागोल्डमेडलप्राप्तकरचुकीहैं।