हालात ने सिखाए सामाजिक बदलाव के सबक

जागरणसंवाददाता,बहराइच:राज्यकेसर्वश्रेष्ठसृजनशीलव्यक्तिकेखिताबसेनवाजेगएदिव्यांगमिथलेशजायसवालकाकहनाहैकिहालातनेसामाजिकबदलावकेसबकसिखाएतोआकाशवाणीसेसाहित्यसृजनकीप्रेरणामिली।पर्यावरणसंरक्षणएवंकविताकेक्षेत्रमेंअहममुकामरखनेवालेबलहाब्लॉककेगुलरागांवनिवासीमिथलेशदोनोंपैरसेदिव्यांगहैं।

जागरणसेखासबातचीतमेंउन्होंनेकहाकिआकाशवाणीलखनऊएवंनेपालसेप्रेरितहोकरचार-चारलाइनकीरचनालिखकरभेजनाशुरूकिया,जिसकीसभीनेप्रशंसाकी।इससेलिखनेकीप्रेरणामिली।2008सेरचनाओंकेप्रसारणमेंनेपालकेफुलवारीएफएममेंप्रस्तोतालक्ष्मणप्रेमीराजपूतवबागेश्वरीएफएमकेप्रस्तोताविष्णुलालकुमालकाविशेषसहयोगमिला।कुमालनेसाहित्यिकरास्तादिखानेकेसाथहीनेपालबुलाकरसम्मानितकिया।सन2010मेंसंपर्कअवधीसंस्थानबाराबंकीकेअध्यक्षडॉ.रामबहादुरमिश्रसेहुआ।उन्होंनेहमारीसाहित्यिकयात्रामेंविशेषसहयोगकिया।स्वच्छभारतमिशनवबेटीबचाओबेटीपढ़ाओसेजुड़ीरचनाओंकीवजहसेतीनबारआकाशवाणीलखनऊसेकवितापाठकाअवसरमिला।

एकसवालकेजवाबमेंबतायाकिबचपनसेचिड़ियोंकोदानाखिलानेकाशौकथा।कईवर्षोंतकबिस्किटकेगत्तोंसेचिड़ियोंकेरहनेकेलिएस्थानबनाया।अबलकड़ीकेघोसलोंकावितरणकरताहूं।उन्होंनेबतायाकि2015मेंहमारीमुलाकातकतर्नियाघाटफ्रेंड्सक्लबअध्यक्षभगवानदासलखमानीसेहुई,उनकीप्रेरणासेपौधारोपणकीशुरुआतकी।विशेषअवसरोंपर2015से2020केबीचपांचसौपौधोंकारोपणएवंवितरणकिया।

कहा,सरकारनेरोडवेजमेंफ्रीयात्राकीसुविधादी।पेंशनबढ़ाकर500रुपयेप्रतिमाहकरदिया,लेकिनयहअबभीनाकाफीहै।न्यूनतमपेंशनतीनहजारहोनीचाहिए,जिससेदिव्यांगोंकोभोजनमिलसके।उनकेमुताबिकहरसरकारीकार्यालयमेंरैंपबनवानेकीजरूरतहै।शौचालयएवंराशनकार्डकालाभशत-प्रतिशतदिव्यांगोंकोमिलनाचाहिए।सभीदिव्यांगोंकोनिश्शुल्कमोटराइजट्राईसाइकिलमिलेतोऔरअच्छाहो।कहा,सरकारसेअपेक्षाहैकिशादीअनुदानराशिदोलाखएवंदिव्यांगजनआवासराशिपांचलाखरुपयेकरे।