गीता पाठ से दी कोरोना को दी मात

जागरणसंवाददाता,कुरुक्षेत्र:मुझेहल्काबुखारथा।इसकेसाथखांसीहोनेलगी।शकहोनेपरअपनाकोविडटेस्टकराया।अगलेदिनकीरिपोर्टपॉजिटिवमिली।एकबारमनमेंअजीबसीघबराहटहुई।घरपरउसकेअलावाउसकीपत्नीहीरहतीहै।उनकाएकबेटाआस्ट्रेलियाऔरदूसराबेटान्यूजीलैंडमेंरहताहै।जिसकारणकुछटेंशनहुई।ऐसेमेंउनकोपवित्रग्रंथगीतासेप्रेरणामिली।

यहकहनापिहोवानिवासीराजेंद्रचोपड़ाका।उन्होंनेकोरोनाकोहरानेकेबादअपनेमनकीबातकोसांझाकी।उन्होंनेबतायाकिइसीसोचमेंउसकीअचानकतबीयतखराबहोगईतोअस्पतालमेंभीभर्तीहोनापड़ा।सांसलेनेमेंभीपरेशानीहोनेलगी।इसीदौरानउसकीपत्नीसुषमाकीभीतबीयतबिगड़गई।उनकीकोविडटेस्टरिपोर्टभीपॉजिटिवआगई।उन्हेंभीअस्पतालमेंभर्तीकरनापड़ा।दोनोंकेअस्पतालहोनेपरघरकोतालालगानापड़ा।विदेशमेंरहरहेबच्चोंकोभीउनकीचिताहोनेलगी।उन्होंनेप्रतिदिनगीताकापाठकरनाशुरूकिया।इसदौरानगीतामनीषीज्ञानानंदमहाराजसेगीताकाव्याख्यासुना,पवित्रग्रंथगीताकेनियमितपाठसेउन्हेंमजबूतीमिली।इसकेसाथनियमितरूपसेयोगकिया।उसेऑक्सीजनसपोर्टकीज्यादाजरूरतनहींपड़ी।दोनोंबेटेविदेशसेउसकेसाथइंटरनेटमीडियापरबातचीतकरतेथे।वहउनकाभीहौसलाबढ़ाताथा।उसकीपत्नीनेभीजल्दकीरिकवरीकरनीशुरूकरदी।वेदोनोंकुछहीदिनोंमेंकोरोनाकोहराकरअपनेघरपहुंचगए।उन्होंनेलोगोंकोइसघड़ीमेंघबरानेकीबजायमजबूतीकेखड़ाहोनेकीप्रेरणादी।इसकेसाथनियमितरूपसेयोग,प्राणायामऔरकोविडकेसभीनियमोंकीपालनाकरनेकीअपीलकी।