घर-घर से जुड़ा मामला है डायबिटीज, यह न अमीर देखता और न ही गरीब

सुपौल।डायबिटीजघर-घरसेजुड़ामामलाहै,यहनशहरदेखताहैऔरनदेहात,नअमीरदेखताहैऔरनगरीब।हमपुरानीपद्धतिकोभूलचलेऔरनईपद्धतिकीओरबढ़े।इसीकानतीजाडायबिटीजरूपीपरेशानीहै।यहकहनाहैभूपेंद्रनारायणमंडलविश्वविद्यालयमधेपुराकेकुलपतिप्रो.डॉ.अवधकिशोररायका।स्थानीयबीएसएसकॉलेजकेसभागारमेंचलरहेडायबिटीजफ्रीलाइफएंडहेल्थकेयरएनेशनलएप्रोचविषयपरआयोजितराष्ट्रीयसेमिनारकेदौरानमंगलवारकोदूसरेदिनअपनेसंबोधनमेंउन्होंनेउक्तबातेंकही।कुलपतिनेकहाकिमैंनेडायबिटीजपरभीरिसर्चकियाहै।डायबिटीजसेपीड़ितलोगोंकीसंख्यादिनवदिनबढ़तीहीचलीजारहीहै।उम्रबढ़नेपरलोगशारीरिकश्रमनहींकरपातेहैं।खानपानपरपरहेज,नियमितदिनचर्या,शारीरिकश्रमऔरयोगअपनाकरइससमस्याकासमाधानकियाजासकताहै।उन्होंनेआरोग्यकेदेवताधनवंतरिकीचर्चाकरतेकहाकिउससमयकोईचिकित्सापद्धतिविकसितनहींथी।धनवंतरिजंगलोंसेप्लांटलातेथेऔरउसीसेलोगोंकाइलाजहोताथा।उन्होंनेवेदोंमेंभीप्लांटोंकीलिखीमहत्ताकोरेखांकितकिया।कहाकिविकासकेहोड़मेंहमअपनीसंस्कृतिभूलतेजारहेहैं,नतीजाहमारेसामनेहैं।तनावसेदूररहिये,हर्बलड्रगखानेकाप्रयासकीजिएतोसमाधाननिकलेगा।उन्होंनेछात्र-छात्राओंसेअपीलकरतेकहाकिसोशलमीडियाकाउपयोगअच्छेकार्यकेलिएकीजिए।एकअच्छानागरिक,बेटाऔरबेटीबनिये।शिक्षितऔरसंस्कारीनागरिकबनियेऔरसमाजतथादेशकेविकासमेंभूमिकानिभाइयेहै।बायोमैपविदरकर्नाटकाकेअध्यक्षडॉ.आरके¨सहनेसेमिनारकोसंबोधितकरतेकहाकिशारीरिकश्रमसेडायबिटीजकोहटायाजासकताहै।हमेंस्वस्थरहनाहैतोबराबरहाथ-पैरचलातारहनाहीहोगा।बोलेकिशारीरिकश्रमकाजितनामहत्वहै,उतनाहीसोनेकाभीमहत्वहै।स्वस्थरहनेकेलिए5:30घंटासोनाअनिवार्यहै।लेकिनसोनेकासमयनियतहोनाचाहिए।प्रकृतिकेसोतेहीसोनाऔरप्रकृतिकेजगनेसेपहलेउठजानाहमारीदिनचर्यामेंशामिलहोनाचाहिए।मौकेपरउन्होंनेडायबिटीजपीड़ितोंकोदिनचर्याएवंखानपानकीजानकारीदी।कहाकिडायबिटीजसेपीड़ितलोगोंकोज्यादान्यूटीलाइटऔरज्यादाफाइवरयुक्तभोजनकरनाचाहिए।अंकुरितअनाज,फलऔरसलादकासेवनकरनाचाहिए।बोलेकिआलूऔरचावलकाजितनाकमहोसकेसेवनकरनाचाहिए।कहाकिदूषितपर्यावरण,अत्यधिकउर्वरकवकीटनाशककेप्रयोगसेउत्पादितअनाजइससमस्याकीजड़मेंहै।डायबिटीजफ्रीसोसायटीबनानेकीउनकीमंशाहै।लोगअपनीदिनचर्यामेंसुधारलाएं,श्रमकीप्रधानताकोसमझें,योगअपनाएं,प्रकृतिप्रदतपौधेकासहीउपयोगकरेंतोइससमस्यापरकाबूपायाजासकताहै।उनकेद्वाराक्याखाएंऔरक्यानखाएंकीभीजानकारीदीगई।इसमौकेपरडॉ.शरदकुमार,डॉ.रीताकुमारी,डॉ.बीकेझाआदिनेभीअपने-अपनेअनुभवसाझाकिए।सेमिनारमेंबीएसएसकॉलेजकेप्राचार्यडॉ.संजीवकुमार,कईचिकित्सक,बीएसएसकॉलेजकेशिक्षकवशिक्षकेतरकर्मचारीसहितजिलेवासीमौजूदथे।दोदिवसीयइसराष्ट्रीयसेमिनारकामंगलवारकीसंध्यासमापनकियागया।