Electric Vehicle: देश में इलेक्ट्रिक कार-बाइक नहीं ये ई-वाहन बने लोगों की पहली पसंद

नईदिल्‍ली.देशमेंपर्यावरणप्रदूषण(Pollution)कोकमकरनेकेलिएनिजीऔरसार्वजनिकपरिवहनकेलिएपेट्रोल-डीजलवाहनोंकेबजायइलेक्ट्रिकव्‍हीकलकोबेहतरविकल्‍पबतायाजारहाहै.इसकेलिएकेंद्रसहितराज्‍यसरकारेंई-वाहनों(E-Vehicle)कीबिक्रीकोबढ़ानेकेलिएनई-नईयोजनाएंऔरनीतियांभीलेकरआरहीहैं.राज्‍योंमेंईवीपॉलिसी(EVPolicy)लागूकरचुकेकईराज्‍यइलेक्ट्रिकवाहनखरीदनेकेलिएप्रोत्‍साहनराशिकेअलावाकईप्रकारकीऋणकीसुविधाऔरछूटभीदेरहेहैं.यहीवजहहैकिलोगइलेक्ट्रिकव्‍हीकल(ElectricVehicle)खरीदनेकेलिएआगेआरहेहैं.हालांकिईवीखरीदनेकोलेकरदिलचस्‍पआंकड़ासामनेआरहाहै.

दिल्‍लीस्थितपॉलिसीरिसर्चइंस्‍टीट्यूट,काउंसिलऑनएनर्जी,एनवायरनमेंटएंडवॉटर(CEEW)सेमिलेआंकड़ेबतातेहैंकिवित्तवर्ष2021-22में15अगस्ततकदेशमेंकुल 67,699इलेक्ट्रिकवाहनोंकीबिक्रीहुईहै.इनमेंई-बाइक(E-Bike),ई-कारसहिततिपहियाऔरअन्‍यसार्वजनिकपरिवहनकेवाहनशामिलहैं.दिलचस्‍पहैकिदेशमेंदोपहियाऔरचारपहियाईवीकेबजायतीनपहिए(ThreeWheeler)वालेइलेक्ट्रिकव्‍हीकलसबसेज्‍यादाबेचेयाखरीदेगएहैं.

सीईईडब्‍ल्‍यूकेमुताबिकदेशमेंइसअवधिमें30,250दोपहियावाहनलोगोंनेखरीदेहैंजोकिकुलबिक्रीका44.68फीसदीहै.जबकिइसकीतुलनामें33,169तिपहियावाहनोंकीबिक्रीहुईहै.जोकिदोपहियासेकरीबचारफीसदीज्‍यादाऔरकुलबिक्रीका48.99प्रतिशतहै.वहींई-चारपहियावाहनोंकीबिक्रीकाफीकमहुईहैऔरइनकीसंख्‍या2,973है.यहकुलवाहनबिक्रीका4.39फीसदीहै.मालकीढुलाईकरनेवालेगुड्सव्हीकलसिर्फ798बेचेगएहैं.यहकुलईवीबिक्रीका1.32प्रतिशतहै.

वहींअगर2018सेलेकरअभीतककीबातकरेंतबभीतिपहियाईवीकीसेलसबसेज्‍यादाहै.2018सेलेकरअभीतककुल1लाख60हजारतिपहियाईवीबेचेगएहैंजबकिदोपहियाई-वाहनसिर्फ48हजारबिकेहैं.चारपहियामेंकुल6हजारईवीकीसेलहुईहैऔरमालढुलाईवालेएकहजारवाहनबेचेगएहैं.

काउंसिलकाअनुमानहैकि2030तकदेशमेंकुल48लाखईवीकीबिक्रीहोनेकाअनुमानहै.ऐसाइसलिएभीहैकिअभीदेशमेंईवीकेलिएइन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चरतैयारकियाजारहाहै.ईवीकेलिएचार्जिंगस्‍टेशनबनानेकेसाथहीबैटरीस्‍वैपिंगकीसुविधाएंभीतैयारकीजारहीहैं.साथहीऑटोमोबाइलकंपनियांभीई-मोबिलिटीकोलेकरगाड़‍ियोंकीनई-नईरेंजलेकरआरहीहैं.

ब्रेकिंगन्यूज़हिंदीमेंसबसेपहलेपढ़ेंNews18हिंदी|आजकीताजाखबर,लाइवन्यूजअपडेट,पढ़ेंसबसेविश्वसनीयहिंदीन्यूज़वेबसाइटNews18हिंदी|

Tags:ElectricBicycles,ElectricCar,ElectricCityBus,Electricvehicle