धूप से मिली राहत, जिदगी ने पकड़ी रफ्तार

कुशीनगर:चारदिनसेपड़रहीहाड़कंपानेवालीठंडसेशुक्रवारसुबहसेशामतकनिकलीधूपसेभारीराहतमिली।घरकेमुंडेरसेलेकरछतोंऔरलानमेंबैठकरलोगोंनेगुनगुनीधूपकाआनंदलिया।व्यापारियोंनेभीदुकानेंसमयसेखोलींतोसड़कोंपरचहल-पहलरही।

चारदिनसेधूपननिकलनेकेकारणपूराजनजीवनअस्तव्यस्तहोगयाथा।बर्फीलीहवाएंमानवसेलेकरपशु-पक्षियोंकोजानबचानामुश्किलकरदीथीं।ठंडसेबचनेकेलिएलोगपूरीतरहघरोंमेंकैदहोगएथे।प्रशासनकोस्कूलोंमेंछुट्टीकरनीपड़ी।सड़कोंपरबहुतजरूरीहोनेपरवनौकरी-पेशावालेहीनिकलरहेथे।ग्राहकोंकेघरसेननिकलनेसेव्यापारियोंकीदुकानदारीप्रभावितहोगयीथी,लेकिनशुक्रवारकीसुबहसभीकेचेहरेपरमुस्कानलेकरआयी।चारदिनसेबेपटरीहुईजिदगीकोधूपनिकलतेपटरीपरलौटतेदेरनहींलगी।दिनचर्यानिपटानेकेबादहरकिसीकेकदमअपनेगन्त्वयकीओरनिकलपड़े।शामहोतेफिरकोहरेनेचादरफैलादीऔरगलनबढ़गयी।लोगोंकोअलावकीजरूरतमहसूसहोनेलगी।

महिलाओंकानिपटाकाम,बच्चोंनेलियाआनंद

धूपनिकलनेकोलेकरमहिलाओंमेंकाफीखुशीरही,क्योंकिउनकेसामनेसबसेबड़ीसमस्याकपड़ोंकोसुखानेकीथी।वेमहिलाएंज्यादापरेशानरहींजिनकेनवजातशिशुयाछोटेबच्चेहैं।धूपनिकलतेहीउनकेचेहरेखिलखिलागए।घरकासाराकामकाजछोड़करउन्होंनेधूपमेंकपड़ोंकोफैलानेकाकार्यकिया।दोपहरतकअधिकतरमहिलाएंइसीकाममेंछतोंपरलगीदेखीगयीं।स्कूलोंमेंचारदिनकीछुट्टीतोठंडनिगलगयी,लेकिनपांचवेंदिननिकलीधूपकाबच्चोंनेभीअपने-अपनेतरहसेखूबआनंदलिया।

बुजुर्गोंकोमिलीसंजीवनी

ठंडसेबचावकाहरजतनकरनेकेबादमौसमकीमारनसहपारहेबुजुर्गोंकोधूपनेसंजीवनीदेदी।तमामघरोंकेछतोंपरबुजुर्गमहिलाओं-पुरुषोंनेपूरेदिनधूपकाआनंदलिया।यहांतककितमामलोगोंनेनाश्तासेलेकरभोजनकरनेकाकार्यधूपमेंकिया।वहींकामकाजनिपटानेकेबादमहिलाएंभीधूपकाआनंदलेनेसेनहींचूकीं।

ठेला-खोमचावालोंनेभीलगायीदुकान

कंपकंपातीठंडऔरनदारदग्राहकोंकेकारणचारदिनसेठेला-खोमचारखकारोबारबंदकरदेनेवालोंकीरोजी-रोटीपटरीपरलौटी।खाद्यपदार्थोंसेलेकरजरूरतकेसामानकीदुकानेंसामान्यदिनोंकीतरहलगींऔरलोगखरीदारीकरतेरहे।

मवेशियोंनेभीकीअठखेलियां

घारीमेंकैदकररखेगएमवेशियोंकोभीउनकेपालकोंनेसड़कोंपरनिकालाऔरचरनेकेलिएमैदानमेंभेजा।धूपसेउनकेभीशरीरमेंफुर्तीलापनआया।हालांकिपालकोंनेपशुओंकोठंडसेबचावकापूराइंतजामकररखाहै।गाय,भैंसोंकोजहांबोरेकीचट्टीबनाकरओढ़ारखागयाहै,वहींबकरियोंकोपरिवारकेसदस्योंकेस्वेटरऔरऊनीकपड़ेतकपहनारखेहैं।उनकेरहनेवालेस्थानपरअलावकीभीव्यवस्थाकीगयीहै।