देवघर में 33 हजार मजदूरों को मिला मनरेगा से रोजगार

जागरणसंवाददाता,देवघर:कोरोनासेउत्पन्नरोजगारसंकटकोखत्मकरनेमेंमनरेगाबड़ाहथियारसाबितहोरहाहै।देवघरजिलेमेंमनरेगाकेजरिएराज्यसरकारकीसंचालिततीनमहत्वाकांक्षीबिरसाहरितग्रामयोजना,नीलांबर-पीतांबरजलसमृद्धियोजनाऔरवीरशहीदपोटोहोखेलविकासयोजनाकेअलावामनरेगासेसंचालितअन्यदूसरीयोजनाओंमेंबड़ेपैमानेपरमजदूरोंकोरोजगारमिलनेसेप्रशासननेराहतकीसांसलीहै।खासबातयहकिइनयोजनाओंमेंप्रवासीमजदूरोंकोभीनियोजितकियाजारहाहै।

देवघरजिलेमेंसभीदसप्रखंडोंमें194पंचायतोंमेंबिरसाहरितग्रामयोजनाकेतहत1000हेक्टेयरभू-भागपरफलदारपौधारोपणकेअलावातसरएवंलाखकापौधारोपणकरनेकालक्ष्यतयहै।इसकेविरूद्ध920एकड़भू-भागपरकार्यशुरूहोचुकाहै।नीलांबर-पीतांबरजलसमृद्धियोजनाकेतहतचिह्नितकुल2066योजनाओंकेविरूद्ध1913योजनाओंपरकामप्रारंभहै।जबकिवीरशहीदपोटोहोखेलविकासयोजनाकेतहततय49खेलकेमैदानोंमें17परकार्यप्रारंभहोचुकाहै।देवघरजिलेमेंमनरेगाकेजरिएफिलहाल5326योजनाएंसंचालितहैंजिसमें33001अकुशलमजदूरकार्यकररहेहैं।प्रखंडोंमेंकामकररहेमजदूर

प्रखंड-कार्यरतमजदूर

सोनारायठाढ़ी-2328

प्रयासहैकिविकासयोजनाओंसेअधिकसेअधिकलोगोंकोजोड़कररोजगारउपलब्धकरायाजाए।प्रवासीमजदूरोंकोभीरोजगारउपलब्धकरानेकेलिएगंभीरतासेप्रयासहोरहाहै।मनरेगामेंप्रवासीमजदूरोंकोकाममिलरहाहैऔरइनकेजॉबकार्डकाभीनिबंधनलगातारहोरहाहै।

शैलेंद्रकुमारलाल,डीडीसी,देवघर