डिग्री के साथ ही ज्ञान का होना भी जरूरी: सांसद

अरवल।प्रखंडक्षेत्रकेशकरीखुर्दस्थितवाणभट्संस्कृतप्राथमिकसहउच्चविद्यालयपरिसरमेंमंगलवारकोविद्यालयप्रशासनद्वाराअपनेसम्मानमेंआयोजितअभिनंदनसमारोहकोसंबोधितकरतेहुएसांसदडॉ.अरुणकुमारनेकहाकिडिग्रीकेसाथहीछात्रोंमेंज्ञानकाहोनाभीजरुरीहै।उन्होंनेकहाकिमैंइससम्मानसेकाफीअभिभूतहूंक्योंकियहसम्मानएकशिक्षककेद्वारादियाजारहाहैजोप्रेरणास्त्रोतहोतेहैं।उन्होंनेसमारोहमेंउपस्थितछात्र-छात्राओंसेशिक्षकोंकोआदरकरनाचाहिए।जोशिक्षादेवेशिक्षकहोताहैऔरशिक्षाकेसाथज्ञानदेताहैवहगुरुहोताहै।गुरुकीकृपासेव्यक्तिउसजीवनकेलक्ष्यकोहासिलकरताहै।इसमौकेपरभाजपाकिसानमोर्चाकेप्रदेशउपाध्यक्षदीपकशर्मानेकहाकिइंसानमेंअसीमसंभावनाएंहोतीहै।उनसंभावनाओंकाद्वारखोलनेकादायित्वशिक्षकोंपरहोतीहै।शिक्षाकेबलपरहीदुनियाकेहरमुकामकोहासिलकियाजासकताहै।सांसदडॉकुमारने¨कजरस्थितपितृपक्षमेलेकाउद्घाटनकिया।उन्होंनेकहाकि¨कजरकापितृपक्षमेंप्रथम¨पडदानकेचलतेअंतर्राष्ट्रीयमहत्वहै।यहांपूरेदेशकेलोग¨पडदानकरतेआतेहैं।उन्होंनेअपनेविकासमदकीराशिसेआधुनिकस्नानागार,शौचालयकानिर्माणकराएजानेकीबातकही।उन्होंनेसरकारकीयोजनासेएकसौफीटसीढ़ीकानिर्माणकराएजानेकेसाथहीसूफीसर्किटसे¨कजरस्थितमखदुमबाबाकेमजारकोजोड़नेतथा¨कजरमहोत्सवकाआयोजनकरानेकीबातकही।इसमौकेपरसांसदप्रतिनिधअरुणकुमारबटेर,शिवकुमारपासवान,अमरनाथशर्मातथाकृष्णमुरारीशर्माआदिलोगभीमौजूदथे।