CWG 2018 के लिए समय से फिट हो जाएंगी पीवी सिंधू, कमाल का रहा है अब तक का सफर

नईदिल्ली,पीटीआइ।गोल्डकोस्टमें4अप्रैलसेशुरूहोरहेकॉमनवेल्थगेम्समेंभारतकोबैडमिंटनखिलाड़ीपीवीसिंधूसेबड़ीउम्मीदहै।ओलंपिकसिल्वरमेडलिस्टसिंधूइसवक्तचोटकीसमस्यासेजूझरहीहैं।हालांकिउन्होंनेउम्मीदजताईहैकिवोसमयसेफिटहोजाएंगीऔरभारतकोइसबारकाफीज्यादापदकमिलेंगे।

सिंधूकेदाहिनेएंकलमेंखिंचावआगयाथाजबवोमंगलवारकोगोपीचंदअकेडमीमेंप्रैक्टिसकेलिएगईथीं।उनकेचोटकीस्कैनकीगईहैऔररिपोर्टकीमानेंतोउनकीहड्डीयाफिरलिगामेंटमेंकोईइंजरीनहींहै।भारतकेलिएराहतकीखबरयेहैकिउनकीचोटज्यादागंभीरनहींहैऔरवोCWGमेंअपनेइवेंटसेपहलेठीकहोजाएंगी।

अपनीचोटकेबारेमें22वर्षीयसिधूनेकहाकिजहांतकतैयारियोंकासवालहैतोमेरासबकुछठीकचलरहाहै।मेरीएंकलमेंखिंचावआगयाजिससेमुझेनिराशाहुईलेकिनमुझेलगताहैकिखेलशुरूहोनेसेपहलेतकमैंपूरीतरहसेठीकहोजाऊंगी।हालांकिहमकितनेमेडलजीतेंगेइसकेबारेमेंतोमैंनहींबतासकतीलेकिनमुझेपूरायकीनहैकिहमकाफीसारेपदकजीतकरदेशवापसलौटेंगे।

ग्लास्गोमेंहुएकॉमनवेल्थगेम्समेंसिंधूनेसिर्फ18वर्षकीउम्रमेंहीखेलाथा।वर्ल्डचैंपियनशिपमेंपदकजीतनेवालीवोपहलीभारतीयमहिलाबैडमिंटनखिलाड़ीबनींथीं।इसटूर्नामेंटमेंउन्होंनेब्रांन्जमेडलजीताथा।इसकेअलावावर्ष2014मेंकोपेनहेगनवर्ल्डचैंपियनशिपमेंउन्होंनेएकऔरब्रांन्जमेडलजीताथा।

दिल्लीकॉमनवेल्थगेम्समेंसाइनानेहवालनेगोल्डमेडलजीताथाजिसकेबादपिछलेकॉमनवेल्थगेम्समेंउनकेपीलेतगमेंकीउम्मीदथीलेकिनसेमीफाइनलमेंउन्हेंकनाडाकीमिशेलेलीकेहाथोंहारकासामनाकरनापड़ाऔरउन्होंनेब्रांन्जमेडलजीता।इसकेबादसेलेकरअबतकसिंधूकेखेलमेंकाफीबदलावआयाहैऔरइसवक्तवोभारतकीनंबरएकमहिलाबैडमिंटनखिलाड़ीहैंसाथहीउम्मीदयेलगाईजारहीहैकिवोगोल्डकोस्टमेंगोल्डमेडलजरूरजीतेंगी।

सिंधूनेकहाकिपिछलीबारउन्होंनेब्रांन्जमेडलजीताथालेकिनइसबारमैंअपनाबेस्टप्रदर्शनदेतेहुएऔरअच्छाकरनाचाहतीहूं।इसवर्षसिंधूडेनमार्कओपनकेफाइनलमेंपहुंचीथीं।मकाउओपनमेंउन्होंनेलगातारतीसरीबारखिताबजीता।सिंधूसबसेज्यादाचर्चामेंतबआईँथीजबउन्होंनेवर्ष2016मेंओलंपिकगेम्समेंभारतकेलिएबैडमिंटनमेंपहलासिल्वरमेडलजीताथा।इसकेबादवोपहलीभारतीयमहिलाखिलाड़ीबनींजिन्होंनेचाइनाओपनकाखिताबजीता।इससेपहलेउन्होंनेमलेशियामास्टर्सकाखिताबभीजीताथा।

वर्ष2017मेंसिधूनेबेहतरीनबैडमिंटनखेलाऔरउन्होंनेसैयदमोदीग्रांप्रीगोल्डकाखिताबजीता।इसकेअलावाउन्होंनेइंडियनओपनऔरकोरियाओपनकाखिताबभीअपनेनामकिया।ग्लास्गोवर्ल्डचैंपियनशिपकेफाइनलमेंउन्होंनेजापानकीनोजोमीओकुहाराकेखिलाफ110मिनटकामुकाबलाखेलाजिसमेंउन्हेंहारमिलीलेकिनउनकेखेलऔरउनकीफिटनेसकीहरकिसीनेतारीफकीथी।इसकेबादउन्होंनेहांगकांगऔरदुबईसुपरसीरीजकेफाइनलमेंहारकासामनाकरनापड़ाथाऔरवोखिताबजीतनेमेंकामयाबनहींहोपाईंथीं