चित्रकूट की बेटी न मैराथन दौड़ में बिखेरा जलाव

जागरणसंवाददाता,चित्रकूट:भलेजिलेमेंखेलवखिलाड़ियोंकोलेकरकोईखासकामनहींहुएहैंलेकिनप्रतिभाछिपनहींपातीहै।कुछऐसाहीकरदिखायाहैचित्रकूटकीमऊतहसीलअंतर्गतछिवलहागांवकीरहनेवाली24वर्षीयरश्मिद्विवेदीने।केरलमेंआयोजितहाफमैरानमें21.7किलोमीटरदौड़मेंअव्वलआकरजलवाबिखेराहै।उनकोपहलेपुरस्कारकेतौरपर25हजाररुपयेधनराशिसेनवाजागयाहै।

पढ़ाईकेदौरानसेहीछिवलहानिवासीसतीशचंद्रद्विवेदीकीबेटीरश्मिकासपनामैराथनदौड़मेंपीटीऊषाकीतरहनामकमानेकाख्वाबहै।इसकोलेकरवहलगातारदौड़काअभ्यासकरतीरहीं।जिलावस्कूलस्तरपरकईपुरस्कारभीजीते।इसीदौरान18फरवरी2018कोउनकीशादीराहुलमिश्राकेसाथहोगईलेकिनउत्साहकमनहींहुआ।पिताकेबादपतिकाभीसाथमिलातोबाहरकेकुछप्रशिक्षकोंसेगुरुमंत्रलिया।इसकेबादएकदिसंबरकोकेरलकेतिरुअनंतपुरममेंआयोजितहाफमैराथनमें21.7किलोमीटरकीदौड़मेंवहअव्वलआईं।उनकोकेरलकेखेलमंत्रीईपीजयराजनने25हजाररुपयेकीनकदधनराशिबतौरपुरस्कारदीहै।इससेपहलेभीकईबाररश्मिनेराज्यस्तरीयप्रतियोगिताओंतकस्थानबनायालेकिनप्रशिक्षणकीकमीकेकारणस्थाननहींमिलसका।जिलेमेंखेलवखिलाड़ियोंकेलिएसुविधानहींहोनेकोलेकरउनकेमनमेंकुछनाराजगीभीहै।वहकहतीहैंकिजिलेकानामरोशनकरनेकीमंशाजरूरएकदिनबड़ामुकामहासिलकराएगी।