चिकित्सकों को दी गई एमआर वैक्सिन की जानकारी

मझिआंव:रेफरलअस्पतालमेंबुधवारकोस्वास्थ्यविभागकेराज्यस्तरीयमिजिल्सरूबेलावैक्सिनटीमकेप्रोजेक्टऑफिसरडा.बीरेंद्रप्रसादएवंनीलमझानेचिकित्सकोंएवंकर्मियोंकोएमआरवैक्सिनकेरखरखावएवंउपयोगिताकीजानकारीदी।उन्होंनेकहाकिएमआरवैक्सिननौमाहसेलेकर15वर्षतककेबच्चोंकोहरहालमेंदेतेहुएशतप्रतिशतलक्ष्यप्राप्तकरनाहै।उन्होंनेस्कूलोंमें15वर्षतककेअध्ययनरतबच्चोंकोवैक्सिनलगानेकानिर्देशदिया।उन्होंनेकहाकिप्रखंडस्तरपर65हजारबच्चोंकोइंजेक्शनलगानेकालक्ष्यहै।उन्होंनेकार्यक्रमप्रबंधकरूबीतब्बसुमकोलाउडस्पीकरकेमाध्यमसेएमआरवैक्सिनकेलिएलोगोंकोजागरूककरनेकानिर्देशदिया।उन्होंनेकहाकिइसकेलिएसभीगांवोंमेंप्रचारप्रसारकियाजाए।बच्चोंकीजानलेवाबीमारीसेरक्षाकरनेकेलिएसरकारस्वास्थ्यकेक्षेत्रमेंजनोपयोगीयोजनाचलारहीहै।कुछनासमझलोगवैक्सिनकेबारेमेंगलतअफवाहफैलादेतेहैं।वैसेलोगोंसेसावधानरहनेकीजरूरतहै।उन्होंनेकहाकिइलाजकेलिएएंबुलेंसकीव्यवस्थाकराईगईहै।108नंबरपरउपलब्धहोनेवालेएंबुलेंसकीविस्तृतजानकारीदी।गंभीरमरीजकेइलाजकेलिएऑक्सीजनयुक्त108नंबरवसाधारणमरीजोंकेलिए104नंबरपरडायलकरें।आसानीसेएंबुलेंसउपलब्धकराईजाएगी।राज्यस्तरीयटीमनेरेफरलअस्पतालकेप्रयोगशालाएवंवैक्सिनरूम,एंबुलेंसकेअंदररखेगएउपकरणकाभीनिरीक्षणकिया।मौकेपरअस्पतालप्रभारीडा.कमलेशकुमार,जिलामेडिकलऑफिसरडा.दिनेश¨सह,रेफरलअस्पतालप्रभारीडा.कमलेशकुमार,डा.मनीषकुमार¨सह,कार्यक्रमप्रबंधकरूबीतब्बसुम,धीरजपाठक,आलोक¨सह,मनोज¨सह,सूचितकुमार¨सहसहितकईलोगउपस्थितथे।