बंगाल सरकार ने पूर्वी कोलकाता आद्रभूमि को बचाने के लिए बनाई व्यापक योजना

राज्यब्यूरो,कोलकाता।पिछलेतीनदशकोंमेंराज्यसरकारनेपहलीबारपूर्वीकोलकातावेटलैंड्स(ईकेडब्ल्यू)कोबचानेकेलिएएकपंचवर्षीयव्यापकयोजनालेकरआईहै।यहआद्रभूमि125वर्गकिलोमीटरकोकवरकरतीहै,जोप्रकृतिऔरइंसानकेमेलजोलसेबनाएकऐसानिवासस्थानहै,जिसेशहरकेपर्यावरणकेलिएकाफीअहममानाजाताहै।

राज्यकेपर्यावरणमंत्रीसौमेनमहापात्रानेकहा,ईकेडब्ल्यूप्रबंधनकार्ययोजना(2021-26)मेंसंस्थानऔरशासन,जलप्रबंधनऔरप्रजातियोंवआवासोंकेप्रदूषणसंरक्षणऔरसततसंसाधनशामिलहैं।यहयोजनापूर्वीकोलकाताकोबेहतरबनाएरखनेकीदिशामेंएकबड़ाकदमहैताकिजैविकविविधताकोबनाएरखनेकेलिएपारिस्थितिकतंत्रमेंसभीकीभागीदारीसमानहो,यहसुनिश्चितकियाजासके।राज्यकेवित्तविभागसेपहलेहीआवश्यकमंजूरीमिलचुकी120करोड़रुपयेकीइसयोजनाकेतहतआद्रभूमिकीबेहतरीकेलिएकामकियाजाएगा।इसमेंसीवेजकीक्षमताकोबढ़ाना,पक्षियोंकीतमामप्रजातियोंमेंवृद्धि,मत्स्यपालनकेलिएकईप्रजातियोंद्वाराकिएजानेवालेआक्रमणोंमेंकमी,आजीविकाभेद्यतामेंकमी,सक्रियभागीदारीवृद्धिसहितकईचीजेंशामिलहोंगी,यानिकियहांकुलमिलाकरचीजेंव्यवस्थितकीजाएंगी।

पर्यावरणसचिवविवेककुमारनेकहा,ईकेडब्ल्यूएकरामसरसाइटहै,जोप्राकृतिकरूपसेअपशिष्टजलकेनिकासकेलिएसक्षमहै।यहनकेवलभारीबारिशकीवजहसेबड़ेपैमानेपरआनेवालेबाढ़सेशहरकोबचानेकेलिएसक्षमहै,बल्कियहइसबातकोभीसुनिश्चितकरताहैकिभूजलकीकमीशहरकेलिएएकबड़ाखतरानबने।ईकेडब्ल्यूप्रबंधनयोजना(2021-26)कीपरिकल्पनासालभरकेशोधकेबादआद्र्रभूमिकीरक्षाकेउद्देश्यसेकीगईहैऔरसाथहीसाथइसमेंकिसानोंऔरमछुआरोंकीआजीविकामेंविकासकीबातकोभीध्यानमेंरखागया,जोइसअद्वितीयपर्यावरणसाइटपरनिर्भरहै।

वर्षोंसेआद्रभूमिकेअतिक्रमणऔरअवैधविनाशकोलेकरकाफीहंगामेकेबादराज्यसरकारइसयोजनाकेसाथआगेआईहै।मई,2019मेंपर्यावरणविद्सुभाषदत्ताद्वाराएकयाचिकादायरकीगईथी,जिसमेंकहागयाथाकिकईशहरीस्थानीयनिकायोंद्वाराकचरेकाअवैधडंपिंगकिएजानेकेपरिणामस्वरूपईकेडब्ल्यूकापानीदूषितहोताजारहाहै।इसपरजांचअभीराष्ट्रीयहरितअधिकरणकेदायरेमेंहै।