भावांतर भरपाई योजना में किसानों की दिलचस्पी कम, 3825 हेक्टयेर पर गोभी, 178 हेक्टयर दायरे में

जागरणसंवाददाता,यमुनानगर:सरकारकीभावांतरभरपाईयोजनामेंफिलहालकिसानदिलचस्पीनहींदिखारहेहैं।जिलेमें3825हेक्टयेरपरफूलगोभीकीफसलहै,जबकि178हेक्टयरहीयोजनाकेदायरेमेंआईहै।अधिकांशकिसानोंनेरजिस्ट्रेशनकरवानामुनासिबनहींसमझा।यहीहालातआलूकीफसलकोलेकररहे।इसमेंभीचु¨नदाकिसानोंनेहीदिलचस्पीदिखाईहै।जिलेमें1414हेक्टेयरपरआलूकीफसलथी,लेकिन7290हेक्टेयरफसलयोजनाकेतहतकवरहुईहै।हालांकिजिलाउद्यानविभागकीओरसेकिसानोंकोविशेषरूपसेजागरूककरनेकाकामकियाहै,लेकिनउत्पादककिसानरजिस्ट्रेशनकेलिएआगेनहींआरहेहैं।उम्मीदजताईजारहीहैकिआलूकीफसलकालाभमिलनेकेबादरजिस्ट्रेशनकरानेवालोंकीसंख्यामेंबढ़ोतरीहोगी।

सरकारनेआलूफसलकासंरक्षितमूल्य400रुपयेप्रतिक्विंटल,प्याजका500,टमाटरका400वफूलगोभीकासंरक्षितमूल्य500रुपयेप्रतिक्विंटलनिर्धारितकियाहैं।बाजारमेंयदिसंरक्षितसेकमदाममिलतेहैं,तोनुकसानकीभरपाईसरकारकरेगी।भविष्यमेंऔरभीफसलेंयोजनाकेदायरेमेंआसकतीहैं।इसपॉलिसीपरसरकारकामकररहीहै।बतादेंकियमुनानगरमेंउक्तचारोंसब्जियोंकीफसलोंकेप्रतिकिसानोंकाकाफीरूझानहै।

प्याजवटमाटरकेलिएकरासकतेरजिस्ट्रेशन

फूलगोभीउत्पादककिसानोंकोलाभदेनेकेलिएउद्यानविभागकीओरसेवेरीफिकेशनचलरहीहै।प्याजवटमाटरकेलिएकिसानरजिस्ट्रेशनकरवासकतेहैं।जोकिसानएकबाररजिस्ट्रेशनकरवाचुकेहैंउनकोअधिकऔपचारिकताएंभीपूरीकरनेकीजरूरतनहींहोती।केवलविभागकोफसलबारेसूचनादेनीहोतीहै।विभागीयजानकारीकेमुताबिकपंजीकरणउद्यानअधिकारीकार्यालय,विपणनबोर्डकार्यालयवई-दिशाकेंद्रोंपरकरवायाजासकताहै।किसानअपनीफसलकापंजीकरणकरवानेकेलिएपहचान-पत्र,फोटोऔरबैंकपासबुकसाथलेकरजाएं।

जेफार्मपरबिक्रीअनिवार्य

जेफार्मपरफसलकीबिक्रीअनिवार्यहै।बिक्रीकेबादविवरणभावांतरभरपाईयोजनाकेपोर्टलपरअपलोडकरनाहोगा।इसकेलिएमार्केटकमेटीकार्यालयमेंसुविधाउपलब्धहै।प्रोत्साहनराशिकिसानकेआधार¨लकडबैंकखातेमेंबिक्रीके15दिनकेअंदरदिएजानेकाप्रावधानहै।भूमिमालिकहीनहींबल्किपट्टेदारकिसानकोयोजनाकालाभमिलताहै।योजनाकामुख्यउद्देश्यसंरक्षितमूल्यसेजोखिमकोदूरकरनाहै।

किसानोंकोइसबारेजानकारीनहींहै।जागरूकताकीकमीहै।योजनामेंसरलीकरणकीभीजरूरीहै।किसानपेचीदगियोंमेंनहींउलझनाचाहता,इसलिएकिसानयोजनासेनहींजुड़पारहेहैं।सरकारकीओरसेविशेषअभियानचलाकरकिसानोंकोजागरूककरनाचाहिए।

रामबीर¨सहचौहान,जिलाप्रधान,भाकिसं।

भावांतरभरपाईयोजनापूरीतरहकिसानोंकेहितमेंहै।आलू,प्याज,फूलगोभीवटमाटरकीफसलकोयोजनाकेतहतशामिलकियागयाहै।भविष्यमेंफसलोंकीसंख्याऔरभीबढ़जाएगी।अधिकसेअधिककिसानइसयोजनासेजुड़ेंऔरभावकेअंतरकीभरपाईकरें।

डॉ.रमेशसैनी,जिलाउद्यानअधिकारी।