भारतीय टीके दुनिया के अन्य देशों के मुकाबले किफायती, देश की परिस्थितियों के अनुरूप निर्मित: मोदी

नयीदिल्ली,11जनवरी(भाषा)प्रधानमंत्रीनरेन्द्रमोदीनेसोमवारकोकहाकिदेशमेंतैयारकोरोनाकेदोनोंटीकेदुनियाकेअन्यटीकोंकेमुकाबलेकिफायतीहैंऔरउन्हेंदेशकीस्थितियोंवपरिस्थितियोंकेअनुरूपनिर्मितकियागयाहै।आगामी16जनवरीसेआरंभहोरहेदेश्व्यापीटीकाकररणअभियानकेपहलेप्रधानमंत्रीनेआजसभीराज्योंकेमुख्यमंत्रियोंसेसंवादकियाऔरउन्हेंभरोसादियाकिदेशवासियोंको‘‘प्रभावी’’वैक्सीनदेनेकेलिएवैज्ञानिकसमुदायने‘‘सभीसावधानियां’’बरतीहैं।उन्होंनेकहाकिदेशअबकोरोनाकेखिलाफजंगकेनिर्णायकचरणमेंप्रवेशकररहाहै।प्रधानमंत्रीनेअपनेसंबोधनमेंकहाकिकेंद्रऔरराज्योंकेबीचसंवादऔरसहयोगनेकोरोनाकेखिलाफलड़ाईमेंबहुतबड़ीभूमिकानिभाईहैऔरयहसहकारीसंघवादकाबेहतरीनउदाहरणहै।उन्होंनेकहाकिजितनीघबराहटऔरचिंतासात-आठमहीनेपहलेदेशवासियोंमेंथी,उससेलोगअबबाहरनिकलचुकेहैं।उन्होंनेइसेदेशकेलिए‘‘अच्छीस्थिति’’बतायाऔरसचेतकियाकिइसकेबावजूदलापरवाहीनहींबरतनीहै।उन्होंनेकहा,‘‘देशवासियोंमेंबढ़तेविश्वासकाप्रभावआर्थिकगतिविधियोंपरभीसकारात्मकरूपसेदिखाईदेरहाहै।अबहमारादेशकोरोनाकेखिलाफलड़ाईमेंनिर्णायकचरणमेंप्रवेशकररहाहै।यहचरणहैटीकाकरणका।16जनवरीसेहमदुनियाकासबसेबड़ाटीकाकरणअभियानशुरुकररहेहैं।’’प्रधानमंत्रीनेकहाकिदेशकेलिएगर्वकीबातहैकिजिनदोटीकोंकोआपातइस्तेमालकीमंजूरीदीगईहै,वेदोनोंही‘‘मेडइनइंडिया’’हैं।उन्होंनेकहा,‘‘इतनाहीनहीं,चारऔरटीकेप्रगतिमेंहैं।जबयेटीकेआजाएंगेतोहमेंभविष्यकीयोजनाबनानेमेंऔरसुविधाहोगी।’’मोदीनेकहाकिदेशवासियोंकोएकप्रभावीवैक्सीनदेनेकेलिएविशेषज्ञोंनेहरप्रकारकीसावधानियांबरतीहैं।उन्होंनेकहा,‘‘हमारीदोनोंवैक्सीनदुनियाकीदूसरीवैकसीनसेज्यादाकिफायतीहैं।हमकल्पनाकरसकतेहैंकिभारतकोकोरोनाकेटीकेकेलिएविदेशीवैक्सीनपरनिर्भररहनापड़तातोहमारीक्याहालतहोती।कितनीबड़ीमुश्किलहोतीहैहमउसकाअंदाजलगासकतेहैं।यहवैक्सीनभारतकीस्थितियांऔरपरिस्थितियोंकोदेखतेहुएनिर्मितकीगईहैं।’’उन्होंनेकहाकिभारतमेंअगलेकुछमहीनोंमें30करोड़लोगोंकोवैक्सीनमिलेगाऔरटीकाकरणकेलिएराज्योंकेसाथसलाहकेबादप्राथमिकताएंभीतयकरदीगईहैं।उन्होंनेकहाकिसबसेपहलेकोरोनायोद्धाओंकाटीकाकरणहोगाऔरउसकेबादअग्रिममोर्चेपरकामकरनेवालेकर्मियोंकोकोरोनाकाटीकालगेगा।उन्होंनेयहभीस्पष्टकियाकिपहलेचिह्निततीनकरोड़लोगोंकेटीकाकरणमेंजोखर्चहोगाउसेराज्योंकोनहींवहनकरनाहैबल्किवहभारतसरकारकरेगी।प्रधानमंत्रीनेकहाकिइतनेबड़ेदेशमेंलगभगसभीजिलोंमेंटीकाकरणकापूर्वाभ्यासकियागया,वहदेशकीक्षमताकोदिखाताहै।उन्होंनेकहा,‘‘भारतमेंपहलेसेभीयूनिवर्सलइम्यूनाइजेशनप्रोग्रामचलरहेहैं,उनअनुभवोंकोइसटीकाकरणअभियानकेसाथजोड़ागयाहै।चुनावमेंजिसतरहबूथस्तरकीरणनीतिहमनेबनाईहै,उसकाअनुभवयहांभीकामआएगा।’’उन्होंनेकहाकिकुछदेशोंद्वाराटीकाकरणशुरूकरदिएजानेकेबादयहसवालउठाएगएकिभारतमेंक्योंदेरीहोरहीहै।उन्होंनेकहा,‘‘मैंनेहमेशाकहाहैकिइसविषयपरसाइंटिफिककम्युनिटीजोकहेगी,वहीहमकरेंगे,उसीकोहमफाइनलमानेंगेऔरउसीप्रकारचलतेरहेंगे।’’ज्ञातहोकिसीरमइंस्टीट्यूटऑफइंडियाद्वारानिर्मितऑक्सफोर्डकेकोविड-19टीके‘कोविशील्ड’औरभारतबायोटेककेस्वदेशमेंविकसितटीके‘कोवैक्सीन’कोदेशमेंसीमितआपातइस्तेमालकेलियेभारतकेऔषधिनियामककीओरसेपिछलेदिनोंमंजूरीदीगईथी।इसकेबादयहप्रधानमंत्रीकासभीमुख्यमंत्रियोंकेसाथपहलासंवादथा।प्रधानमंत्रीनेकहाकिभारतकेटीकाकरणअभियानपरदुनियाकीनजरेंटिकीहैंऔरअनेकदेशउसकाअनुसरणभीकरेंगे।ऐसेमेंभारतकीजिम्मेदारीऔरबढ़जातीहै।उन्होंनेकहाकिदुनियाकेलगभग50देशोंमेंलगभगएकमहीनेसेटीकाकरणकाकामचलरहाहैलेकिनअबतककरीबढाईकरोड़लोगोंकाहीटीकाकरणहोपायाहै।उन्होंनेकहा,‘‘अबभारतमेंहमेंअगलेकुछमहीनोंमेंलगभग30करोड़आबादीकाटीकाकरणकालक्ष्यहासिलकरनाहै।इसचुनौतीकापूर्वानुमानलगातेहुएभारतनेबहुतव्यापकतैयारियांकीहै।अगरकिसीकोकुछअसहजताहोतीहैतोउसकेलिएभीजरूरीप्रबंधकिएगएहैं।’’प्रधानमंत्रीनेकहाकिकोरोनाकेइससंकटकालमेंसभीराज्योंनेएकजुटहोकरकामकियाऔरइसदौरानसंवेदनशीलताकेसाथबड़ेफैसलेभीकिएगएऔरजरूरीसंसाधनभीजुटाएगएतथासाथहीजनताकोलगातारजागरूकभीकरतेरहे।उन्होंनेकहा,‘‘आजइसीकापरिणामहैकिभारतमेंकोरोनाकासंक्रमणवैसानहींहैजैसादुनियाकेअन्यदेशोंमेंहमनेदेखाहै।’’