भारत को ज्ञान और नवाचार केन्द्र के रूप में फिर से स्थापित करने का समय आ गया है: नायडू

नयीदिल्ली,तीनअप्रैल(भाषा)उपराष्ट्रपतिवेंकैयानायडूनेबुधवारकोकहाकिदेशमेंशैक्षणिकसंस्थानोंकेसामनेआरहीसमस्याओंकामूलकारणव्यवसायीकरणऔरखराबप्रशासनहै।उन्होंनेकहाकिभारतकोज्ञानऔरनवाचारकेन्द्रकेरूपमेंफिरसेस्थापितकरनेकासमयआगयाहै।इंदिरागांधीराष्ट्रीयमुक्तविश्वविद्यालय(इग्नू)के32वेंदीक्षांतसमारोहकोसंबोधितकरतेहुएनायडूनेकहाकिउच्चशिक्षाक्षेत्रमेंसुधारकेलिएगुणवत्ताकाभरोसामहत्वपूर्णहै।उन्होंनेकहा,‘‘ऐसाकरनेकेलिए(भारतकोएकज्ञानकेंद्रकेरूपमेंस्थापितकरने)हमेंविभिन्नक्षेत्रोंमें21वींसदीकीतेजीसेबदलतीजरूरतोंकोपूराकरनेकेवास्तेअपनीउच्चशिक्षाप्रणालीमेंपूरीतरहसेसुधारकरनाहोगा।’’उपराष्ट्रपतिनेकहा,‘‘निजीऔरसरकारीवित्तपोषितसंस्थानोंमेंसमस्याकामूलकारणक्रमशःव्यवसायीकरणऔरखराबप्रशासनहै।’’उन्होंनेकहा,‘‘जिसतरहभारततेजीसेएकज्ञान-आधारितसमाजकीओरअग्रसरहै,उसेअपनेपारंपरिकज्ञानआधारकोबनाएरखनाचाहिएऔरइसेदेशकीआधुनिकशैक्षणिकप्रणालीकेसाथजोड़ाजानाचाहिए।विश्वविद्यालयनेदीक्षांतसमारोहमेंअपनेसंबंधितकार्यक्रमोंमेंसफलरहेछात्रोंकोदोलाखडिग्री,डिप्लोमाऔरप्रमाणपत्रप्रदानकिए।दीक्षांतसमारोहमें70सेअधिकमेधावीछात्रोंकोगोल्डमेडलभीप्रदानकिएगए।