भाजपा नहीं होती तो राजनीति से गुम हो जाती तृणमूल कांग्रेस

ब‌र्द्धमान:पूर्वब‌र्द्धमानजिलेकेउत्तरपूर्वस्थलीमेंमंगलवारकोभाजपाकायोगदानमेलाकाआयोजनकियागया।इसदौरानसभाकीगई।इसमेंपार्टीबदलनेकेबादपूर्वपरिवहनमंत्रीरहेसुवेंदुअधिकारी,भाजपाप्रदेशअध्यक्षदिलीपघोष,कृष्णाघोषआदिशामिलहुए।दलपरिवर्तनकेबादअपनीपहलीसभामेंसुवेंदुनेतृणमूलकांग्रेस(तृकां)द्वाराउठाएजारहेएक-एकप्रश्नकाजवाबदिया।कहाकिअगरभाजपाआश्रयनहींदीहोतीतोतृकांनामकराजनीतिदलहीगुमहोजाता।उन्होंनेभाइपो(भतीजा)संबोधनकरअभिषेकबनर्जीपरभीजमकरकटाक्षकिया।उन्होंनेममताबनर्जीकोआड़ेहाथोंलेतेहुएकहाकिवेखुदकेदमपरहोतीतोवर्ष2001मेंहीमुख्यमंत्रीबनजाती।सभीजानतेहैंकितृकांकीस्थापनाकेबादसेविधानसभा,पंचायतवलोकसभाचुनावमेंतृकांकिसकेसाथथी।उससमयदेशकेप्रधानमंत्रीस्व.अटलबिहारीवाजपेयी,लालकृष्णआडवाणीअगरतृकांकोआश्रयनहींदेतेतोवर्ष2001मेंहीतृकांराजनीतिसेगुमहोजाती।उन्होंनेकोयलावगोतस्करीकोलेकरभीउन्होंनेजमकरनिशानासाधाएवंतोलाबाजभाइपोहटाओकानारादिया।उन्होंनेकहाकिअबराज्यमेंकेवलकिडनीकीतस्करीबचीहै।उन्होंनेकहाकिमैंविश्वासघातकवमीरजाफरनहींहूं।जिनकाआत्मसम्मानहै,वेअबतृकांनहींकरसकेंगे।तृकांअबएककंपनीकेरूपमेंतब्दीलहोगईहै।मेरेसाथअमितशाहजी,दिलीपघोषदाजैसेनेताओंसेबातहुईहै।मैंनेकोईशर्तनहींरखीहै।केवलतोलाबाजभाइपोकोहटानेकीबातकहीहै।पार्टीमेंसामान्यकर्मीकेरूपमेंकामकरनेकोतैयारहूं,क्योंकिबंगालमेंपरिवर्तनकरनाजरूरीहोगयाहै।