बेटी सोनाली ने बताया, क्या था जिसने अरुण जेटली को अरुण जेटली बनाया...

15अगस्तकीसुबह,मैंनेदेखाकिप्रधानमंत्रीनेअपनेस्वतंत्रतादिवसकेभाषणमेंमहिलाओंकेस्वास्थ्यकेमहत्वपरजोरदेतेहुएसस्तीदरोंपरसैनिटरीनैपकिनप्रदानकरनेकेसरकारीप्रयासोंकीबातकी.देशकेसर्वोच्चनेताकोइनमुद्दोंपरस्वतंत्ररूपसेबोलतेहुएऔरउन्हेंसार्वजनिकचर्चामेंलानेकाप्रयासकरतेदेखनाप्रेरणादायकथा.

प्रधानमंत्रीकीइसप्रगतिशीलसोचपरविचारकरते-करतेमुझेअपनेपिताअरुणजेटलीयादआगए,जोएकसालपहलेहमेंछोड़करचलेगएथे.चाहेबातसमाननागरिकसंहिताकोलागूकरनेकेलिएसमर्थनकीहो,पिछड़ेपर्सनललॉकेकट्टरविरोधकीयाफिरयुवाओंकोहुनरमंदबनानेकेमहत्त्वपरजोरदेनेकी–निस्संदेहवहसबसेदूरदर्शीव्यक्तिथेजिन्हेंमैंजानतीथी.

दुनियापहलेसेहीअरुणजेटलीकेपेशेवरकौशलसेअवगतहै.हमजानतेहैंकिवहकैसेबोलतेथे, उनकीकार्यशैलीकैसीथी.इसलिएआजमैंउनकीप्रशंसानहींकरनाचाहती,मैंबसयहयादकरनाचाहतीहूंकिवहक्याथाजिसनेअरुणजेटलीकोअरुणजेटलीबनाया.

इमरजेंसीकेदौरमेंगिरफ्तारी

उनकीयादोंकोजबमैंअपनेशब्दोंमेंबयांकरतीहूं,तोमैंकुशाग्र-बुद्धिवालेराजनेतायावकीलकेबारेमेंनहींबल्किउसव्यक्तिकेबारेमेंलिखतीहूंजोमेरापिताथे.इंदिरागांधीद्वारालगाएगएआपातकालकेविरोधमें1975मेंजबउन्होंनेएबीवीपीकार्यकर्ताकेरूपमेंप्रदर्शनकिया,तोउन्हेंजेलभेजदियागया.जेलमेंबितायेसमयकीयादहमेशाउनकेसाथरही.इसनेउनकेजीवनपरस्थायीअसरडाला,लेकिनउनकाहौसलाप्रभावितनहींहुआ.बल्किउनकेइरादेलोहेजैसेमजबूतहोगए.

इमरजेंसीकेदौरमेंगिरफ्तारी

जबमैंछोटीथी,वहस्कूलमेंहोनेवालेहरवार्षिकदिवसकार्यक्रमऔरपेरेंट-टीचरमीटिंगमेंशामिलहोतेथे.मेरेलिएबेहदखासथा,क्योंकिवहपार्टीकार्यकर्ता,वकीलहोनेकेसाथहीभारतकेASG(बोफोर्सघोटालेकीजांचकाकामभीसंभालरहेथे)कीजिम्मेदारीसंभालतेहुएइसकेलिएसमयनिकालतेथे.उनकेलिएदेशहमेशापहलीप्राथमिकतारहा,मगरउन्होंनेअपनेपरिवारकीभीकभीउपेक्षानहींकी.त्यौहार,जन्मदिनयाफिरकोईदूसराअहममौका-वहहरबारहमारेसाथथे.यहांतककिमोदीसरकारमेंवरिष्ठमंत्रीहोनेकेबावजूदउन्होंनेमेरीशादीकीव्यवस्थाओंकोव्यक्तिगतरूपसेदेखा.

पारिवारिकमूल्योंमेंदृढ़विश्वासरखनेवालेमेरेपितानेहमेशाहमेंयहबतायाकिआजहमजोकुछहैं,उसमेंहमारेबड़ोंनेकैसेयोगदानदिया.एकसमाजकेरूपमें,यहहमाराकर्तव्यहैकिहमउनकेलिएवहांमौजूदरहेंऔरउन्हेंउनकाहकदें.यहकेवलउनकीसोचहीनहींथी,बल्किउन्होंनेइसदिशामेंकामभीकिया.2018केबजटमेंउन्होंनेवरिष्ठनागरिकोंकेलिएकईलाभोंकीघोषणाकी,जैसेब्याजसेआयपरछूटकीसीमाकोपांचगुनाकरना.

उन्होंनेहरखुशीऔरगममेंअपनोंकासाथदिया.वहशादियोंमेंशरीकहुए,तोसहयोगियों,दोस्तोंकेअंतिमसंस्कारमेंजानेसेभीपीछेनहींहटे,फिरभलेहीवहकितनेभीव्यस्तक्योंनरहेहों.पिताजीकेदिलचस्पगुणोंमेंसेएकयहथाकिउन्हेंसबकेचेहरेयादरहतेथे.फिरचाहेआपउनसेअगलेदिनमिलेंया20सालबाद!उन्होंनेअपनेकर्मचारियोंकीपरिवारकीतरहहीदेखभालकी.वहमानतेथेकिआजवहजिसमुकामपरहैं,इसमेंउनकेकर्मचारियोंकीसमर्पितसेवाकाअहमयोगदानहै.एकवरिष्ठअधिवक्ताकेरूपमें,कर्मचारियोंकीजरूरतोंकोपूराकरनेकेलिएउन्होंनेअरुणजेटलीक्लर्केजअकाउंटबनाया.इसकेमाध्यमसेवहकर्मचारियोंकेबच्चोंकीशिक्षाकाखर्चाउठातेथे.उनकीनजरोंमेंशिक्षासफलताकीपहलीसीढ़ीथी.

उनकेकर्मचारियोंकेकुछबच्चेमेरेसाथस्कूलपढ़नेगएऔरकईन्यूयॉर्कयूनिवर्सिटीऔरन्यूकैसलयूनिवर्सिटीजैसेप्रतिष्ठितसंस्थानोंमेंपढ़ाईकरनेकेबादआजसफलपेशेवरहैं.पिताजीअक्सरखुशहोकरउनकी(कर्मचारियोंकेबच्चोंकी)सफलताकेबारेमेंबतायाकरतेथे.वहसमय-समयपरउनकाहाल-चालजाननेभीपहुंचजातेथे.वैसे, जेटलीक्लर्केजअकाउंटउनकेजानेकेबादभीअपनीभूमिकानिभारहाहै.इसकीमददसेकईकर्मचारियोंकेघरोंऔरबच्चोंकीशादियोंकेलिएभुगतानकियागयाहै(अबयहमतपूछिएकिक्यापिताजीउपस्थितथे,जवाबआपकोपताहै!).

उन्होंनेहमेशायहसुनिश्चितकियाकिमैंजोकुछहासिलकरूं,बिनाकिसीफेवरकीआशाकेहासिलकरूं.जबमैंनेबास्केटबालटूर्नामेंटमेंजानाशुरूकिया,तोउन्होंनेमेरेअंदरटीमभावनाजागृतकी.चाहेट्रेनकेसेकंडक्लासमेंसफरकरनाहोयाखराबखानाखाना,उन्होंनेमुझेहमेशाटीमकेसाथरहनेकोकहा,वोभीबिनाकिसीशिकायतके.आजभीमेराहरकार्यइन्हींमूल्योंपरआधारितहै.

पिताजीखुदभीवहीकरतेथे,जिसकीसलाहवहदूसरोंकोदेतेथे.पार्टीकीवर्किंगकमिटीकीबैठकमेंवेवहींरहते,जहांपार्टीकीतरफसेइंतजामकियागयाजाता.यूंतोवेफाइवस्टारहोटलमेंभीरहसकतेथे,लेकिनउन्होंनेऐसानहींकिया.तबभीनहींजबउनकीतबीयतखराबरहतीथी.वहहमेशाभारतीयखानेकोतवज्जोदेतेथेऔरयात्रासेपहलेकुछनकुछखाकरहीनिकलतेथे.फिरचाहेवहदेशमेंकहींजारहेहोंयाफ्रांस,अमेरिकाआदिदेशोंकीयात्रापर.

जबमैंनेअपनीलॉफर्मशुरूकी,वोमुझेकईक्लाइंट्सदिलासकतेथे,लेकिनअरुणजेटलीनेनिराशनहींकिया!उन्होंनेकहा-‘मैंनेतुम्हेंएकऑफिसमेंमददकी,लेकिनमुझसेकुछऔरउम्मीदमतकरना..क्लाइंट्सभीनहीं!अगरतुममुझपरनिर्भररहोगीतोतबक्याहोगाजबमैंनहींरहूंगा’.

फिरभीमुझेबतानाचाहिएकिडैडनेमुझेदुनियाकेदोनोंपहलूदिखाए,फैंसीभीऔरसाधारणभी.हमनेसबसेबेहतरीनरेस्तरांओंमेंखानाखाया,लेकिनजोखानामेरासबसेपसंदीदाहै,वोहैरोटीसब्जीजोमैंघरपरपरिवारकेसाथबैठकरखातीहूं.

उन्होंनेहमेंवोसारेऐशोआरामदिए,जोवोदेसकतेथे.हमारापरिवारकुछशानदारजगहोंपरछुट्टियांमनानेभीगया,मैंनेविम्बलडनलाइवभीदेखा,जिसमेंनडाल-फेडररकावोसेंटरकोर्टमेंगरमागरमएनकाउंटरभीशामिलथा.मैंनेकुछयादगारक्रिकेटमैचभीस्टेडियममेंदेखेहैं,लेकिनईमानदारीसेकहूंतोभारत-पाकिस्तानकेमैचकेदौरानलिविंगरूममेंसोफेपरबैठकरसचिनकेलिएउत्साहसेचीयरकरनेसेबेहतरकुछभीनहींहै.

कोईपूछसकताहै,‘सोनाली,हरकोईसोचताहैकिआपकेपिताकाफीशानदारहैं,आपकेपिताकोक्याइतनाअनोखाबनाताहै?’मेराजवाबहै-येइसबारेमेंनहींहैकिउन्होंनेक्याकिया,येइसबारेमेंहैकिउन्होंनेकैसेकिया.वोअक्सरअपनेकामकोइसतरहसेकरतेथेकिनएलोगोंकोहैरतमेंडालदेतेथे.वोसचमेंएकहीवक्तमें10कामकरसकतेथे!

उदाहरण-उनकाईवनिंगरुटीन:डिनर,फोनकॉल्स,मैसेजोंकाजवाबदेना,खबरेंदेखना,औरसाथमेंसेक्रेट्रीसेभीअगलेदिनकेशेड्यूलपरचर्चाकरना..सबएकसाथहोताथा.उनकीटीवीदेखनेकीतीनप्राथमिकताएंथीं-क्रिकेट,न्यूजऔरपुरानेफिल्मीगीत.

मैंनेदेखाहैकिपिताजीनेअपनेसबसेअच्छेलेखोंपरमंथनतबकिया,जबवोअपनेमेहमानोंयाक्लाइंट्ससेजोरदारबहसकररहेहोतेथे.अगरमैंउनलेखोंकोआजबाहरनिकालकरयेबताऊंकिकौनसालेखकिसमाहौलमेंलिखागयातोआपयकीननहींकरोगे.ऐसीउनकेदिमागकीचपलताथी!

‘स्प्रिटऑफदसेंट्रलहॉलऑफपार्लियामेंट’

पिताजीकरियरपॉलिटीशियननहींथे,वोपहलेएकमेधावीवकीलथे.उनकेसेक्रेट्रीनेउनसेएकबारपूछाथाकिजबवोअपनीवकालतसेकरोड़ोंकमासकतेहैं,तोराजनीतिकेमैदानमेंक्योंउतरे?तोवोमुस्कराएऔरबोले,‘लॉमेराप्रोफेशनहैऔरपॉलिटिक्समेरापैशन’.

‘स्प्रिटऑफदसेंट्रलहॉलऑफपार्लियामेंट’

उनकायहीपैशनथाजिसनेमेरेपिताजीकोवोदुर्लभक्षमतादीकिवोमशहूरहस्तियोंकासाथहोयाफिरदूरदराजकेगांवोंकेआमआदमीकासाथ,वोउतनेहीसहजरहतेथे.

दोस्तीउनकेलिएसबसेऊपरथीऔरतमामपार्टीविचारधाराकेलोगोंसेउनकेरिश्तेथे,इसकेरास्तेमेंकभीभीराजनैतिकअसहमतियांनहींआईं.उन्हेंअक्सर‘स्प्रिटऑफदसेंट्रलहॉलऑफपार्लियामेंट’केनामसेजानाजाताथा,जहांवोअक्सरबैठाकरतेथेऔरपार्टीलाइनसेइतरलोगोंकोभीअपनेकिस्सेऔरविचारोंकेसाथवाकपटुतासेलाजवाबकरदेतेथे.

इतनेसालकानूनीप्रोफेशनमेंरहनेकेचलतेउनकेअंदरबातचीतकावोकौशलआगयाथा,जिसकेचलतेवोविरोधीधड़ोंकोभीएकजुटकरलेतेथे,इसीकेचलतेउन्हें‘पार्टीकाट्रबलशूटर’कहाजानेलगाथा.इसट्रबलशूटिंगकासबसेबेहतरीनउदाहरणथाजीएसटीबिलकोपासकरवाना,जिसमेंसभीपार्टियोंकीसहमतिसुनिश्चितकरनेकेलिएएकरायबनानेकीउनकीपूरीप्रतिभाकाइस्तेमालहुआ.

हालांकिमेरीनजरमें,17सालपहलेएककार्यक्रममेंवाकईउनकीपूरीराजनयिकयोग्यताओंकीपरीक्षाहुईथी,औरउनकोसबकीनजरोंमेंलादियाऔरवोकार्यक्रमथा2003कीडब्ल्यूटीओकानकुनमिनिस्ट्रीयलकॉन्फ्रेंस.इसकॉन्फ्रेंसमेंहुईएकघटनातोकभीभुलाईहीनहींजासकती,‘’कानकुनमेंकरीब100देशोंनेकुछमुद्दोंकोलेकरएकग्रुपबनाया,फिरभीएकखबरतेजीसेफैलीकिएकबड़ादेशइससंगठनसेनिकलनेकीयोजनाबनारहाहै.तब,पिताजीएक्शनमेंआएऔरफौरनएकप्रेसकॉन्फ्रेंसबुलाली,जहांउन्होंनेयेसुनिश्चितकियाकिउसदेशकाप्रतिनिधिमंडलमीडियाकीनजरोंमेंआजाएऔरऐसाहुआभीऔरउसीकेचलतेउसदेशकेप्रतिनिधिमंडलनेछोड़नेकाआइडियाहीछोड़दिया.

वैसे,येपहलीकामयाबीनहींथी,जोउन्हेंकानकुनमेंमिलीथी.कॉमर्सएंडइंडस्ट्रीजविभागकामंत्रीहोनेकेनातेविकसितदेशोंकेसाथउन्होंनेदृढ़तासेभारतीयहितोंकीरक्षाकरतेहुएबातकी.उसकेफौरनबाद,व्यापार,कृषिऔरनिवेशकेमुद्दोंपरडब्ल्यूटीओमेंविकासशीलदेशोंकाप्रभावबढ़नाशुरूहोगयाथा.

पिताजीदूसरोंकीमददकरने,समाजसेमिलावापसदेनेमेंयकीनकरतेथे,इससेफर्कनहींपड़ताथाकिकबऔरकहां.उनकाएकसबसेजबरदस्तवाक्यअभीभीमुझेयादहै-‘राजनीतिज्ञहोनाआसानहै,लेकिननेतावहीहोताहैजोप्रतिभाओंकोआगेबढ़ाताहैऔरभविष्यकेनेतातैयारकरताहै’.तमामतेजतर्रारनेताआजउन्हेंअपनीप्रेरणाबतातेहैं,अपनागुरूबतातेहैंतोइससेमुझेगर्वहोताहैक्योंकिवोवैसाकरनेमेंकामयाबहुए,जैसावोकरनेमेंयकीनरखतेथे.

गुजरातके3बारकेसांसदहोनेकेनातेवोहमेशाराज्यकेलिएकुछबेहतरकरनेकेलिएचिंताकरतेरहतेथे.2014मेंउन्होंनेसांसदआदर्शग्रामयोजनाकेतहतकरनाली,पिपलिया,वाडियाऔरबगलीपुरानामकेगांवगोदलिएथे.

गुजरतेसमयकेसाथवोसमझतेगएकिइनगांववालोंकोआखिरकिनपरेशानियोंकासामनाकरनापड़ताहै,औरउसीकेहिसाबसेउनगांवोंकारूपबदलदिया.तमामसारेकामजोउनगांवोंकेलिएउन्होंनेकिएउनमेंशामिलहैंएकपुलबनवाया,एकफोरलेनरिंगरोडबनवाई,सभीगांवोंकेहरघरमेंटॉयलेटबनवाए,सोलरलाइट्सलगवाईं,औरग्रामीणबच्चोंकेलिएएकसाइंसलैबभीबनवाई.

लेकिनजबमैंउनकोकामोंकोयादकरतीहूं,मुझेयेभीजरूरबतानाचाहिएकिउनकोएकअफसोसभीथा.वोहमेशास्वास्थ्यमंत्रीकापोर्टफोलियोअपनेपासरखनाचाहतेथेताकिस्वास्थ्यसेवाओंकोसबकीपहुंचकेदायरेमेंलासकें,उनकोसस्ताबनासकें.(हालांकिमुझेभरोसाहैकिउन्हेंगर्वहोगाकिआयुष्मानभारतयोजनाइससपनेकोपूराकरचुकीहै!)

जिंदगीभरवोमानतेरहेकिहमारेदेशकेडॉक्टर्सऔरनर्सेजसबसेबेहतरीनहैं.जबउन्हेंकिडनीट्रांसप्लांटकेलिएसिंगापुरजानेकीसलाहदीगईतोउन्होंनेइसेनहींमानाऔरभारतीयडॉक्टर्सपरज्यादाभरोसाकिया!मेडिकलस्टाफऔरस्वास्थ्यकार्यकर्ताओंकेलिएउनकीप्रशंसाअद्भुतथीऔरयेउनकेसाथनिजीबातचीतसेमजबूतहुईथी.वोअक्सरकहाकरतेथेकिडॉक्टर्सकोपूरासम्मानमिलनाचाहिए,क्योंकिवोहमेंबचानेकेलिएअपनासबकुछलगादेतेहैं.

जबवोहॉस्पिटलमेंथेतो,अखबारोंमेंडॉक्टर्सयाहेल्‍थप्रोफेशनल्सकेसाथदुर्व्यवहारकीखबरेंपढ़करअक्सरइसबातसेदुखीहोतेथेकिउनकेसाथऐसाव्यवहारक्योंहोताहै.वोमुझसेकहाकरतेथेकिजबभीस्वस्थहोजाऊंगा,उनकीसुरक्षासुनिश्चितकरनेकेलिएकोईनाकोईकानूनीरास्तानिकालूंगा.दुखकीबातहै,किऐसाहोनासका.

20अप्रैलकोपीएमनरेंद्रमोदीकीसरकारनेहेल्‍थवर्कर्सकेखिलाफहिंसाकरनेपरकड़ीसजाकेप्रावधानवालेविधेयककोमंजूरीदेदी,इससेनिश्चितहीपिताजीबहुत,बहुतखुशहोंगे.

कश्‍मीरकामुद्दा

कश्मीरकामुद्दाउनकेदिलकेबेहदकरीबथा,खासतौरपरजबसेउनकाइसजमीनसेनिजीऔरगहरारिश्ताजुड़ाथा.उनकामाननाथाकिधारा370,प्रगतिकीराहमेंबड़ारोड़ाथी.अपनेआखिरीमहीनोंमेंवोलगातारजम्मूकश्मीरकासंविधानपढ़तेरहतेथेताकिधारा370सेनिपटनेकीकोईउपयुक्तरणनीतिबनासकें.औरनरेंद्रमोदीजीऔरअमितशाहजीकेसाथअगस्त2019मेंइसेहटाकरइतिहासबनादियागया.येक्षेत्रअबतेजीसेएकएजुकेशनऔऱइन्वेस्टमेंटहबबननेकेरास्तेपरहैं,मुझेयकीनहैकियेतोबसशुरुआतहै.

कश्‍मीरकामुद्दा

पिताजीकेपासइसदेशकेलिएयकीननएकउत्कृष्टदृष्टिकोणथा,हालांकिवोइसेसाकारहोताहुआदेखनेकेलिएनहींरहेंगे,मुझेउम्मीदहैकिउनकेलिएमैंइसेदेखनेकेलिएरहूंगी.वोचाहतेथेकिभारतन्यायसंगतहोऔरसबकोहेल्‍थ,सर्विसऔरएजुकेशनमेंमौकेमिलें.वोचाहतेथेकिनौजवानआगेआएंऔरराष्ट्रनिर्माणकीप्रक्रियामेंशामिलहों,जैसाकिउन्होंनेलगभगआधीसदीपहलेकियाथा.

आइएहमउनकेविजनकोआगेलेजानेकीआकांक्षारखेंऔरबदलावलानेकीकोशिशोंकोकभीनारोकें.औरअंतमें,अगरमैंयेकहूंकिकेवलमैंहीउन्हेंमिसकररहीहूंतोयेगलतहोगा.इसमहानदेशमेंऐसेबहुतहैं,जोउन्हेंमिसकररहेहैं.

(लेखिका:सोनालीजेटलीबक्‍शीस्‍वर्गीयअरुणजेटलीकीपुत्रीऔरपेशेसेवकीलहैं.)

(लेखिका:सोनालीजेटलीबक्‍शीस्‍वर्गीयअरुणजेटलीकीपुत्रीऔरपेशेसेवकीलहैं.)

(इसलेखमेंव्यक्तविचारलेखिकाकेनिजीविचारहैं.)

(इसलेखमेंव्यक्तविचारलेखिकाकेनिजीविचारहैं.)