बच्‍चे क्‍यों फेल हो जाते हैं?

लोकसभामेंशनिवारकोशिक्षाकाअधिकारअधिनियममेंसंशोधनबिलपासहोगया,जिससेबच्चोंकोकोफेलनकरनेकीनीतिकावजूदसमाप्‍तहोजाएगा.संभवहैकिअन्‍यदलोंकासमर्थनमिलनेकेबादयहसंशोधनराज्‍यसभामेंभीपासहोजाए.इसकेबादभीजरूरीहैकिइसपरचर्चाजारीरखीजाएऔरजनतावनीतिनिर्माताओंकोइसकोबदलावकेसंभावितखतरोंकेबारेमेंबतायाजाए.

आरटीईअधिनियमकीधारा16किसीछात्रकोकिसीकक्षामेंफेलकरनेसेरोकतीथीलेकिनइसप्रावधानकोऐसेहीनहींछोड़ाजासकता.छात्रकोफेलनकरनेकायहकतईमतलबनहींकिआकलननकियाजाए.धारा16कोधारा29सेजोड़करदेखाजानाचाहिए,जिसमेंअनवरतवव्‍यापकमूल्‍यांकन(सीसीई)औरबच्‍चेकोभय,मानसिकपीड़ाऔरबेचैनीसेदूररखनेकेबारेमेंबतायागयाहै.

ASER2016में,प्रथमकेसहसंस्‍थापकमाधवचह्वाणनेकहाथाकिबच्चोंकोफेलनकरनाऐसीदंडात्‍मककार्रवाईहैजोउनकाशोषणकरतीहै.हमइसेउसकेशैक्षिकपतनकीशुरुआतकेरूपमेंदेखसकतेहैं.

फेलकरनेकेआर्थिकमायने

संशोधितधारा16मेंप्रावधानकरदियागयाहैकिकक्षा5व8मेंपरीक्षाएंहोनीचाहिए.उपधारा3भीकहतीहैकिअगरबच्चापुनर्परीक्षामेंफेलहोताहैतोउसेउसीकक्षामेंरोकलियाजाए.किसीभीनीतिगतफैसलेकेअपनेसामाजिकवआर्थिकक्षतिकेआधारपरपरिणामहोतेहैं,औरबच्चोंकोफेलनकरनेकेप्रावधानकोपलटनेकीअपनीजटिलताएंहोंगी.

फेलकरनेकेआर्थिकमायने

ASERडेटापरगौरकरेंतोकक्षा5व8मेंपढ़नेवालेकरीबआधेछात्रोंकीपढ़ाईकास्‍तर,जिसकक्षामेंवेपढ़रहेहैं,उससेकमपायागयाहैऔरइसलिएवेफेलहोगए.संशोधनमेंदोबारापरीक्षामहत्‍वपूर्णकारकहै.धारा16कीउपधारा2बतातीहै,"अगरबच्‍चाफेलहोताहै...तोउसेदोअतिरिक्तदिशा-निर्देशदिएजानेचाहिएऔरदोमहीनेमेंदोबारापरीक्षाकामौकादियाजानाचाहिए...'

अतिरिक्‍तनिर्देशोंकेचलतेअतिरिक्‍तखर्चकाभारभीबढ़ेगा.इसकेलिएअतिरिक्तप्रशिक्षण,खासपाठ्यक्रमऔरअगरनियमितशिक्षकदोमाहकेलिएखालीनहींहैंतोपार्टटाइमयास्‍वयंसेवीशिक्षकोंकोमानदेयदेकरउन्हेंपढ़ानेकाजिम्मासौंपनाहोगा.इसकाखर्चाप्रतिबच्चेकेहिसाबसे800-1000रुपयेबैठेगा.मानलियाजाएकक्षा5व8के30फीसदीछात्रपहलीकोशिशमेंफेलहोजातेहैं.ऐसेमेंउन्‍हेंअतिरिक्‍तनिर्देशदेनेहोंगे.इससेगांवकेसरकारीस्‍कूलोंके61लाखछात्रोंकोयेप्रोग्रामकरानेमेंकरीब150करोड़रुपएकाखर्चआएगा.कुछछात्रदोबारापरीक्षापासकरलेतेहैंऔरकुछस्‍कूलछोड़देतेहैंतोबाकीउसीकक्षामेंरहजाएंगे.

मानलीजिए61लाखबच्चोंमें25फीसदीकोदोबाराउसीकक्षामेंपढ़नापड़ताहै.इससेप्रतिबच्‍चा12700रुपएकाअनुमानितखर्चआएगा,यानि1900करोड़रुपएकाअतिरिक्‍तवित्‍तीयबोझपड़ेगा.साथमेंफेलहोनेवालेछात्रोंकाखर्चजोड़दियाजाएतोयहबढ़कर2000करोड़रुपएपरपहुंचजाएगा.यहराशि2018-19केसर्वशिक्षाअभियान(एसएसए)के26,129करोड़रुपएकेकुलबजटका8फीसदीहोगी.

यहांऐसाहोनेसेरोकनाज्‍यादाबेहतरहोगा?क्‍यायहबेहतरनहींहोगाकिबच्‍चोंकेअर्लीचाइल्‍डहुडडेवलपमेंट(ज्‍यादाआंगनवाड़ी,अच्‍छीसैलरी,अच्‍छाप्रशिक्षण)मेंनिवेशकियाजाएताकियहसुनिश्चितहोकिकक्षा1सेहीउनकीपढ़ाईकास्‍तरमजबूतहो?क्‍यायहबेहतरनहींहोगाशिक्षकोंकेप्रशिक्षणसंस्‍थानोंकीस्थितिसुधारीजाएताकिशिक्षकसंस्‍थागतशिक्षणकासर्वश्रेष्‍ठइनपुटप्राप्‍तकरसकेंऔरबच्‍चोंकोअच्‍छाशिक्षणदेंताकिवेआगेचलकरफेलनहों?

दोबाराउसीकक्षामेंपढ़ानाकोईसमाधाननहीं

तथ्ययहहैकिसीखनेकेस्‍तरमेंगिरावटआरहीहै.NASऔरASERदोनोंकेआंकड़ेइसकीदुहाईदेतेहैं.ASERकेमुताबिक2010मेंकक्षा5के47फीसदीछात्रक्‍लास2कीकिताबतकपढ़सकनेमेंसक्षमनहींथे.2016मेंऐसेछात्रोंकीसंख्‍याबढ़कर52%होगई.लेकिनक्‍याशिक्षास्‍तरमेंइसगिरावटकेएकमात्रकारणकेचलतेहीफेलनकरनेकीनीतिआईथी?आरटीईकेआनेसेपहलेभीऐसेहीहालातथे.2005मेंASERकेपहलेसर्वेमेंपताचलाथाकि39फीसदीछात्रपढ़नहींसकते.

दोबाराउसीकक्षामेंपढ़ानाकोईसमाधाननहीं

लेकिनफेलहोरहाछात्रकैसेअपनीलर्निंगसुधारसकताहै?वहबिल्‍कुलनहींकरसकता.दोबाराउसीकक्षामेंपढ़ानाकोईसमाधाननहींहैऔरनहीइससेउसकेसीखनेकास्तरबढ़ेगा.बल्किइसकेउलटयहहोगाकिबच्‍चेकाआत्मविश्वासपूरीतरहडगमगाजाएगाऔरवहधीरे-धीरेस्‍कूलछोड़देगा.

ऐसाकोईशोधनहींजोइसबातकासंकेतदेताहोकिबच्‍चेकोदोबाराउसीकक्षामेंपढ़ानेसेउनकेसीखनेकेस्तरमेंसुधारहोताहै.यहांतककिसीसीईऔरफेलनकरनेकीनीतिपरबनीसरकारकीकेंद्रीयशिक्षासलाहबोर्ड(सीएबीई)कीसहसमितिनेभीकहाहैकिभारतहीनहींबल्किविदेशमेंभीऐसाकोईसाक्ष्‍यनहींमिलाजिसमेंकहागयाहोकिबच्चेकोफेलकरनेसेउसकीसमझमजबूतहुईहै.

बच्चोंकोफेलनकरनेकाविचारकिसीशोधयाडेटापरआधारितनहींहैबल्किअवधारणापरआधारितहै.एकबातयहभीहैकिबच्‍चे,अभिभावकऔरशिक्षकगंभीरनहींहैंक्‍योंकिफिलहालपरीक्षाकीकोईव्‍यवस्‍थानहींहै.अगरपरीक्षामेंफेलहोनेकाडरहोगातोछात्रध्‍यानलगाएंगे,शिक्षकशिक्षणकार्यकरेंगे.डरसेपरिणामोंमेंथोड़ेसमयकेलिएतोसुधारआसकताहै,लेकिनसीखनेकेस्तरमेंनहीं.

क्‍लास10केबोर्डएक्‍जामरिजल्‍टखराबआरहेहैंक्‍योंकिशिक्षाकास्‍तरखराबहै.यूपीमेंपरीक्षामेंनिगरानीबढ़ने,परीक्षाकक्षमेंसीसीटीवीलगनेऔरइससालनकलमाफियापरशिकंजाकसनेसेकरीब10लाखछात्रपरीक्षामेंबैठेहीनहीं,जिससेपासप्रतिशतगिरगया.

दूसराअवसर

संशोधनमेंदोबारापरीक्षाकेप्रावधानपरविस्‍तृतचर्चाकीजरूरतहै.अगरकोईछात्रमार्चमेंपरीक्षामेंफेलहोजाताहैतोउसेदोमाहबाद-मईयाजूनमेंदोबारापरीक्षादेनीहोगी.दूसरेप्रयासकेबादहीउसेकक्षामेंरोकनेकाफैसलालियाजाएगा.लेकिनइनतथ्योंपरगौरकरनेकीजरूरतहै:

दूसराअवसर

पहला,क्‍यायहसंभवहैकिकोईछात्र5सालकीखराबस्‍कूलिंगकेकारणमूलभाषाऔरगणितमेंकमजोररहगयाहोऔरवहगर्मीकेदोमहीनोंमेंइसअंतरकीभरपाईकरले?

दूसरा,'अतिरिक्‍तनिर्देश'कौनउपलब्‍धकराएगा?शिक्षक,जोपहलेसेहीशिक्षणमेंकाफीव्‍यस्‍तहैं,कोकिसीतरहऔरसमयनिकालनाहोगा.यहदोमाहकासमयगर्मीकीछुट्टियोंकेसाथपड़ेगा,जबदेशमेंज्‍यादातरजगहोंपरस्‍कूलोंमेंगर्मीकीछुट्टियांहोतीहैं,जोशिक्षकोंकेलिएभीहैं.तोइसमहत्‍वपूर्णगतिविधिकेलिएस्‍वयंसेवीशिक्षकोंकोलगानाहोगा.यहांशिक्षणकीभीपरीक्षाहोगी-जहांशिक्षकउन्‍हींसवालोंपरगौरकरेंगेजोदोबारापरीक्षामेंपूछेजानेहों.रटनेकीतकनीककोप्रोत्‍साहनमिलेगा,क्‍योंकिसमझनेकीप्रक्रियामेंसमयलगताहै.कुछछात्रआसानीसेपरीक्षापासकरअगलीकक्षामेंचलेजाएंगेलेकिनक्‍याउनकासीखनेकास्तरइतनीअच्छाहोगाकिवेअगलीकक्षामेंसफलहोसकें?

अबआगेक्या?

कमजोरछात्रकोअगलीकक्षादेनेसेउनकेसीखनेकेस्तरसुधारनहींहोगा.सबसेबड़ीजरूरतव्‍यापकरचनात्‍मकताआकलनकीहै.ऐसेआकलनजोउसकेकमजोरहोनेकाकारणबतातेहोंऔरउनकेआधारपरउपायकरकेउसकेसीखनेकेस्तरकोबढ़ायाजासके.हालांकियेचुनौतीपूर्णहैलेकिनअसंभवनहीं.अभिभावकोंकीरायलेनीहोगी.ऐसीपहलकरनीहोगीजहांशिक्षक-अभिभावकबच्‍चेकेआकलनमेंसाथभागलेसकेंऔरइसपरचर्चाकरेंकिबच्‍चेकोआखिरकिसचीजकीजरूरतहै.संभवहैकिसंशोधनकेसाथआरटीईअधिनियमपासहोजाएलेकिनमुझेलगताहैकिचर्चाजारीरहनीचाहिए.मुझेउम्‍मीदहैकिराज्‍यसरकारें,जोअपनेदिशा-निर्देशभीबनातीहैं,कोबच्‍चोंकेप्रतिअपनीजिम्‍मेदारीसेनहींभागनाचाहिए.हमेंबच्चोंकोफेलकरनेकीनीतिनहींबदलनीचाहिए.

अबआगेक्या?

लेखककापरिचय:

लेखककापरिचय: