बागबेड़ा ग्रामीण जलापूर्ति योजना शुरू कराने का आग्रह

जासं,जमशेदपुर:बागबेड़ामहानगरविकाससमितिनेगुरुवारकोउपायुक्तकेमाध्यमसेमुख्यमंत्रीकोज्ञापनदिया,जिसमेंबागबेड़ाग्रामीणजलापूर्तियोजनाअविलंबशुरूकरानेकाआग्रहकिया।

समितिकेअध्यक्षसुबोधझानेबतायाकिमुख्यमंत्रीकोभेजेपत्रमेंलिखाहैकिसमितिकीअगुवाईमें2005सेक्रमबद्धएवंसंपूर्णघाघीडीहविकाससमितिकेसंयुक्ततत्वधानमेंअध्यक्षछोटरायमुर्मू,कृष्णाचंदपात्रो,रितुसिंह,प्रभाहांसदाकेनेतृत्वमें389बारधरना,प्रदर्शन,उपायुक्तकार्यालयकाघेराव,पेयजलएवंस्वच्छताविभागकाघेरावप्रदर्शन,भूखहड़ताल,छहबारविधानसभाकाघेराव,दोबारराजभवनकाघेराववएकबारजमशेदपुरसेरांचीतकपदयात्राकरसैकड़ोंलोगोंकेसाथविधानसभाकाघेरावकियागयाथा।2012मेंमुख्यमंत्रीहेमंतसोरेनपेयजलएवंस्वच्छताविभागकेमंत्रीथे।घेरावकेबादउसवक्तविधानसभास्थगितकरमुख्यमंत्रीअर्जुनमुंडाद्वाराविधानसभाकक्षमेंविधानसभाअध्यक्षसीपीसिंहकीअध्यक्षतामेंआंदोलनकारियोंकोआश्वस्तकियाथा।27दिसंबर2012मेंहीशिलान्यासकरनेकावादाकियागयाथा।उसवक्तविधानसभाअध्यक्षसीपीसिंहनेकहाथाकिहेमंतसोरेनबताएंकिआंदोलनकारियोंकोमात्रनारियलपानीपिलायाजाएगायाघर-घरपाइपलाइनकेमाध्यमसेपानीउपलब्धकरायाजाएगा।मुख्यमंत्रीहेमंतसोरेननेउसवक्तविभागीयमंत्रीहोनेकेनातेघोषणाकीथीकिग्रामीणोंकोयथाशीघ्रपानीउपलब्धकरायाजाएगा।आजआपवेमुख्यमंत्रीहैं।सारानिर्णयअबउन्हेंलेनाहै।बागबेड़ाक्षेत्रोंकीकीताडीहक्षेत्रोंकीघाघीडीहक्षेत्रोंकीपरसुडीहक्षेत्रकेलगभगदोलाखजनतापानीकेलिएदर-दरकीठोकरेंखारहीहै।समितिनेघटियानिर्माणकेदोषियोंपरकड़ीकार्रवाईकीमांगकरतेहुएचेतावनीदीकि15दिनमेंयोजनाशुरूनहींहुईतोएकबारफिरबेमियादीआंदोलनशुरूकियाजाएगा।

योजनाकाशिलान्यास2012केबदले2015मेंहुआ

वर्ष2012मेंतत्कालीनमुख्यमंत्रीहेमंतसोरेननेपानीकेलिएआदोलनकररहीजनताकोआश्वासनदियाकिजलापूर्तियोजनाकोधरातलपरउताराजायेगा.27दिसंबर2012कोशिलान्यासकादिनभीतयहुआ,लेकिनकिसीकारणवशशिलान्यासटलगया।अगलेतीनवषरेंतकयहमामलाठंडेबस्तेमेंपड़ारहा।2014मेंजबरघुवरदासकीसरकारआयी,तोफिरसेआदोलनशुरूहुआ।तत्कालीनमुख्यमंत्रीरघुवरदास2018अप्रैल2015कोबागबेड़ाकेसिद्धू-कान्हूमैदानमेंइसयोजनाकाशिलान्यासकिया।

छोटागोविंदपुरग्रामीणजलापूर्तियोजनाहोगईशुरू

छोटागोविंदपुरग्रामीणजलापूर्तियोजनाऔरबागबेड़ाग्रामीणजलापूर्तियोजना,दोनोंकाशिलान्यासएकहीवर्षमेंहुआ.छोटागोविंदपुरग्रामीणजलापूर्तियोजनाशुरूहोगयीहै।वहाकी27पंचायतोंके127गावोंकेलगभग26हजारघरोंमेंजलापूर्तिहोरहीहै,जबकिबागबेड़ाग्रामीणजलापूर्तियोजना(निर्मलजलपरियोजना)अभीभीखटाईमेंहै।