अब समय आ गया है कि लद्दाख की जड़ी-बूटियों और औषधीय पौधों को विश्व में पहचान मिलेगी: मोदी

नयीदिल्ली,आठअगस्त(भाषा)प्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेजम्मू-कश्मीरपरअपनेसंबोधनमेंगुरुवारकोकहाकिअबसमयआगयाहैकिलद्दाखकेलोगअपनेक्षेत्रकीसमृद्धजैवविविधतासेलाभान्वितहोंगेऔरवहांकेऔषधीयपौधोंतथाजड़ीबूटियोंकोवैश्विकमान्यतामिलेगी।संसदद्वाराजम्मू-कश्मीरकोविशेषदर्जादेनेवालेअनुच्छेद370केप्रावधानोंकोनिरस्तकरनेऔरराज्यकोदोकेंद्रशासितप्रदेशों-जम्मू-कश्मीरऔरलद्दाखमेंविभाजितकरनेसंबंधीविधेयककोमंजूरीमिलनेजानेकेबादप्रधानमंत्रीमोदीनेराष्ट्रकेनामअपनेसंबोधनमेंयहबातकही।प्रधानमंत्रीनेलद्दाखकीमहत्वपूर्णजड़ीबूटियोंकाउल्लेखकिया।उन्होंनेकहाकिबर्फसेढकेपहाड़ोंमेंतैनातसुरक्षाकर्मियोंकेलिएयेजड़ी-बूटियांआधुनिकसमयकी‘संजीवनी’केरूपमेंकामकरसकतीहैं।उन्होंनेकहा,‘‘विशेषज्ञोंकाकहनाहैकिऊंचेपहाड़ोंपररहनेवालेलोगोंऔरबर्फसेढकेक्षेत्रोंमेंतैनातसुरक्षाकर्मियोंकेलिएयहएकसंजीवनीहै।यहकमऑक्सीजनवालेक्षेत्रोंमेंशरीरकीप्रतिरक्षाप्रणाली(रोगप्रतिरोधकक्षमता)कोबनाएरखतीहै...ऐसीजड़ी-बूटियांपूरेजम्मू-कश्मीरऔरलद्दाखमेंफैलीहुईहैं।’’मोदीनेकहाकियदिऐसीजड़ी-बूटियोंकोमान्यतादीजातीहैऔरउन्हेंबेचाजाताहै,तोइससेक्षेत्रकेकिसानोंकेसाथ-साथलोगोंकोभीलाभहोगा।उन्होंनेकहा,‘‘मैंउद्योगपतियों,निर्यातकोंऔरखाद्यप्रसंस्करणसेजुड़ेलोगोंसेदुनियाभरमेंस्थानीयउत्पादोंकोलेजानेकेलिएआगेआनेकाअनुरोधकरताहूं।’’