आवास योजना में प्रथम फेज का 294 आवास पूर्ण

संवादसहयोगी,किशनगंज:शहरीक्षेत्रमेंसबकेलिएआवासयोजनाअंतर्गतनगरपरिषदकार्यालयकेसभागारमेंबुधवारकोशिविरकाआयोजनकरनगरपरिषदप्रभारीकार्यपाकपदाधिकारीकेद्वाराप्रथमफेजके40लाभुकोंकोउनकेबैंकखातेमेंअंतिमकिस्तकीराशिदीगई।यहशिविरप्रत्येकसप्ताहनगरपरिषदकार्यालयकेसभागारमेंआयोजनकियाजाएगा।जिसमेंशहरीविकाससेजुड़ेयोजनाकालाभलाभुकोंकोदियाजाएगा।हालांकिइसशिविरमेंएकभीजनप्रतिनिधिमौजूदनहींथे।

वहींनगरपरिषदकेसभीवार्डोंमें6491शौचालयबनानेकालक्ष्यथा।जिसमेंमात्र89शौचालयतकनीकीखामीयोंकेकारणनिर्माणनहींहोसकाहै।जिसेसुधारकरजल्दसेजल्दपूर्णशौचालयनिर्माणकरदियाजाएगा।यहजानकारीनगरपरिषदकार्यपालकपदाधिकारीमंजूरआलमनेदी।इसदौरानशिविरमेंमौजूदलाभुकोंकोसंबोधितकरतेहुएनगरपरिषदकार्यपालकपदाधिकारीमंजूरआलमनेकहाकिहाऊसफोरऑल(सबकेलिएआवास)योजनाअंतर्गतशहरीक्षेत्रकेलिएएक-एकलाभुककोदोलाखरुपयेदियाजारहाहै।जिसेतीनकिस्तमेंदियाजाएगा।पहलीकिस्तनींवखोदनेकेबाद50हजार,दूसरीकिस्तमेंएकलाखरुपयेछततकबनानेकेलिएवतीसरीकिस्त50हजारघरकोपूर्णरूपदेनेकेलिएदियाजारहाहै।यहतभीमिलेगाजबलाभुककाजिओटैग(विभागीयकर्मीकेद्वारालाभूककेसाथअर्धनिर्मितआवासकाफोटोअपलोडकरनेपर)कियाजाएगा।इसकेअलावाउन्होंनेबतायाकिइनघरोंको325स्क्वायरफीटमेंबनायाजाएगा।जिसमेंदोकमरा,एककिचेन,शौचालयवस्नानघरहोगा।यहलाभउठानेकेलिएलाभुककेजमीनकाकागजातपूर्णहोनाअनिवार्यहै।साथहीउसजमीनपरपुरानाझोपड़ीहोनाअनिवार्यहै।लाभुकअगरचाहेतोउसदोलाखकीराशिमेंअपनीराशिलगाकरऔरभीअच्छेसेघरबनासकताहै।मालूमहोकिकेंद्रसरकारवबिहारसरकारकेद्वारासबोंकेलिएघरयोजनाकेतहतनपक्षेत्रमेंघरबनाएजारहेहै।इसयोजनामेंदोलाखकीराशिलाभुकोंकोघरबनानेकेलिएदियाजारहाहै।जिसमे1.5लाखकेंद्रसरकारव50हजारराज्यसरकारदेरहीहै।

-----------------------------------------

2015-16काप्रथमफेजका427आवासकरनिर्माणअबतकनहींहुआपूर्ण

सबकेलिएआवासयोजनामेंविभागीयलेटलतीफीसरकारीयोजनाओंकीविफलताकीकहानीलिखरहीहै।इसयोजनाकेतहत2015-16मेंप्रथमफेजमें427आवासस्वीकृतकीगईथी।जिसमेंप्रथमकिस्त425लाभुकोंकोदियागया।द्वितीयकिस्त396लाभुकोंकोदियागया,औरअंतिमकिस्त294लाभुकोंकोअबतकदियागयाहै।जबकि133लाभुकअबभीऐसेहैजिन्हेंतीसरेकिस्तकीराशि4सालबीतजानेकेबादभीअबतकनहींमिलाहै।हालांकिप्रभारीकार्यपालकपदाधिकारीमंजूरआलमनेबहुतजल्दप्रथमफेजकालक्ष्यपूराकरलेनेकाबातकही।वहीं2017-18मेंद्वितीयफेजमें2331लाभुकोंकाचयनकियागया,जिसमें1698कोप्रथमकोकिस्त,1004कोदूसरीएवं294कोतीसराकिस्तकीराशिदियागयाहै।