17वीं लोकसभा अभी से इतिहास में दर्ज : मोदी

नयीदिल्ली,23नवंबर(भाषा)प्रधानमंत्रीनरेन्द्रमोदीनेसोमवारकोकहाकि16वींलोकसभाकाकार्यकालदेशकीप्रगतिकेलिएबहुतहीऐतिहासिकरहाजबकिअपनेनिर्णयोंकेकारण17वींलोकसभाकाकार्यकालअभीसेइतिहासकेपन्नोंमेंदर्जहोगयाहै।उन्होंनेउम्मीदजताईकिअगलीलोकसभाभीदेशकोनएदशकमेंआगेलेजानेकेलिएबहुतमहत्वपूर्णभूमिकानिभाएगी।प्रधानमंत्रीमोदीनेयेबातेंसांसदोंकेलिएराजधानीदिल्लीकेडॉबीडीमार्गपरबनाएगएबहुमंजिलाफ्लैटोंकाउद्घाटनकरनेकेबादअपनेसंबोधनमेंकही।वीडियोकांफ्रेंसकेमाध्यमसेआयोजितइसउद्घाटनसमारोहमेंलोकसभाअध्यक्षओमबिरला,केंद्रीयशहरीआवासमंत्रीहरदीपसिंहपुरी,संसदीयकार्यमंत्रीप्रल्हादपटेलऔरसंसदकीआवाससमितिकेअध्यक्षसीआरपाटिलभीशामिलहुए।मोदीनेकहाकिसामान्यतौरपरयहकहाजाताहैकियुवाओंकेलिए16,17,18सालकीउम्रबहुतमहत्वपूर्णहोतीहैऔरठीकउसीप्रकार16,17,18कीयेउम्रकिसीयुवालोकतंत्रकेलिएभीउतनीहीमहत्वपूर्णहै।उन्होंनेकहा,‘‘2019केचुनावकेसाथहीहमने16वींलोकसभाकाकार्यकालपूराकियाहै।यहसमयदेशकीप्रगतिकेलिए,देशकेविकासकेलिएबहुतहीऐतिहासिकरहाहै।2019केबादसे17वींलोकसभाकाकार्यकालशुरूहुआहै।इसदौरानभीदेशनेजैसेनिर्णयलिएहैं,जोकदमउठाएहैं,उनसेयहलोकसभाअभीसेहीइतिहासमेंदर्जहोगईहै।’’प्रधानमंत्रीनेउम्मीदजताईकि18वींलोकसभाभीदेशकोनएदशकमेंआगेलेजानेकेलिएबहुतमहत्वपूर्णभूमिकानिभाएगी।उन्होंनेकहा,‘‘16वीं,17वींऔर18वींलोकसभाकाकालखंडहमारेयुवादेशकेलिएबहुतअहमहै।देशकेलिएइसमहत्वपूर्णसमयकाहमसबकोहिस्साबननेकासौभाग्यप्राप्तहुआ।हमसबकीजिम्मेदारीहैजबइतिहासमेंलोकसभाकेअलग-अलगकार्यकालोंकाअध्ययनकियाजाएतोयेकार्यकालदेशकीप्रगतिकेस्वर्णिमअध्यायकेतौरपरयादकियाजाएं।’’उन्होंनेकहा,‘‘देशकेसामनेइतनाकुछहैजोहमेंइसदौरानहासिलकरनाहै।’’प्रधानमंत्रीनेकहाकि16वींलोकसभामें60प्रतिशतऐसेबिलरहेहैंजिन्हेंपासकरनेकेलिएऔसतनदोसेतीनघंटेतककीबहसहुईजबकिपिछलीलोकसभासेज्यादाबिलपासकिए,लेकिनपहलेसेज्यादाचर्चाकीहै।उन्होंनेकहा,‘‘येदिखाताहैकिहमनेउत्पादपरभीफोकसकियाहैऔरप्रक्रियाकोभीनिखाराहै।’’प्रधानमंत्रीनेअपनेसंबोधनमेंपिछलेडेढ़सालमेंसरकारकीओरसेउठाएगएकमदोंकाजिक्रकियाऔरकहाकिइसदौरानजहांजम्मू-कश्मीरकोअनुच्छेद370सेमुक्तकरायागयावहींतीनतलाकजैसीप्रथाकोसमाप्तकियागया।उन्होंनेकहा,‘‘सिर्फबीतेएकडेढ़वर्षकीबातकरेंतोदेशनेकिसानोंकोबिचौलियोंकेचंगुलसेआजादकरानेकाकामकियाहै,ऐतिहासिकलेबररिफॉर्म्सकियेहैं,कामगारोंकेहितोंकोसुरक्षितकियाहै।’’प्रधानमंत्रीनेकहाकिदशकोंसेचलीआरहीसमस्याएं,टालनेसेनहीं,उनकासमाधानखोजनेसेसमाप्तहोतीहैं।उन्होंनेकहा,‘‘सिर्फसांसदोंकेनिवासहीनहीं,बल्कियहांदिल्लीमेंऐसेअनेकोंप्रोजेक्ट्सथे,जोकई-कईबरसोंसेअधूरेथे।’’इसकड़ीमेंउन्होंनेअंबेडकरनेशनलमेमोरियल,केंद्रीयसूचनाआयसोगकीइमारत,वॉरमेमोरियलऔरपुलिसमेमोरियलकाउल्लेखकिया।